जौनपुर : फरार ईरानी गैंग के बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दी दबिश

जौनपुर : फरार ईरानी गैंग के बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दी दबिश

# लखनऊ, रायबरेली, सुल्तानपुर और जौनपुर की पुलिस ने दे दबिश

जौनपुर।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
                 रायबरेली में पुलिस मुठभेड़ में घायल ईरानी गैंग के दो बदमाश इरफान अली व इंजमाम अली लखनऊ ट्रामा सेंटर से मंगलवार को फरार हो गए थे। दोनों आरोपियों की तलाश में बुधवार को लखनऊ, रायबरेली, सुल्तानपुर और जौनपुर की पुलिस ने शाहगंज के भादी मोहल्ला समेत बड़ागांव व सराय मोहिद्दीनपुर और सरपतहां के इलाके में आरोपियों के ठिकानों पर दबिश दी लेकिन दोनों आरोपी पुलिस के हाथ नहीं लगे। हालांकि इस दौरान उनके परिवार वालों से जरूर पूछताछ की गई।

शुक्रवार को रायबरेली के डलमऊ थाना क्षेत्र में पुलिस व एसओजी टीम ने लूट व टप्पेबाजी आदि की घटनाओं में शामिल ईरानी गैंग के सरगना शाहगंज क्षेत्र के बड़ा गांव निवासी कथित पत्रकार पठान अली उसके पुत्र इंजमाम अली, इरफान अली व राहुल सक्सेना को गिरफ्तार किया था। मुठभेड़ के दौरान इरफान अली व इंजमाम अली को पैर में गोली लगी थी। दोनों को मंगलवार को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। बुधवार की सुबह इरफान व इंजमाम अभिरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों को चकमा देकर ट्रामा सेंटर से भाग निकले। उनके फरार होने की सूचना मिलने के साथ ही पुलिस, एसओजी और सर्विलांस टीम ने छापेमारी शुरू कर दी। उसकी तलाश में शाहगंज क्षेत्र के भादी मोहल्ला, बड़ागांव व सराय मोहिद्दीनपुर में शाहगंज, सरपतहां, कादीपुर (सुल्तानपुर), लखनऊ, रायबरेली एसओजी व सर्विलांस टीम के प्रभारी की अगुवाई में उसके ठिकानों पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान पुलिस के हाथ खाली रहे।

ट्रामा सेंटर से फरार बदमाशों की तलाश में आई पुलिस ने ईरानी गैंग के मुख्य सरगना पठान अली के घर पर भी जांच-पड़ताल की। इस दौरान उसकी पत्नी हसीना बेगम और दोनों बेटियों से भी पूछताछ की। ईरानी गैंग का सरगना पठान अली व उसके साथी शाहगंज नगर के भादी मोहल्ले, बड़ागांव व सराय मोहिद्दीनपुर में अपना ठिकाना बना रखे हैं। उसकी क्षेत्र के एक दरोगा व सरपतहां थाने के दो सिपाही से सांठ-गांठ की बात सामने आई। दोनों सिपाही भूमिगत हो गए हैं, पुलिस के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। माना जा रहा है कि तीनों के खिलाफ जल्द विभागीय कार्रवाई की जा सकती है। बताते हैं कि ईरानी गैंग में शामिल पठान अली 15 साल से ज्यादा समय से भादी खास मोहल्ला स्थित ईरानी बस्ती में रहता है। वहीं एक मकान इसने बड़ागांव में ले रखा है। जहां अपनी दूसरी पत्नी को रखता है। वह खुद को एक न्यूज पोर्टल का पत्रकार बताता था। पत्रकारिता की धौंस जमाकर कोतवाली, तहसील, सीएचसी समेत तमाम विभागों से अपने काम भी करा लेता था। लोग बताते हैं कि छह माह पूर्व अयोध्या पुलिस ने उसे कोतवाली क्षेत्र से गिरफ्तार किया था।
Previous articleपूनम का चांद !
Next articleजौनपुर : बाइक सवार को बचाने के लिए ट्रेन चालक ने रोक दी मालगाड़ी
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏