जौनपुर : मानव जीवन और पर्यावरण के लिए अनुकूल है जैविक खाद- पीयूष प्रताप

जौनपुर : मानव जीवन और पर्यावरण के लिए अनुकूल है जैविक खाद- पीयूष प्रताप

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 जन शिक्षण संस्थान द्वारा चल रहे स्वच्छता पखवाड़ा के तहत क्षेत्रीय वन विभाग के कार्यालय में “वर्मी कम्पोस्ट और जल प्रबंधन पर” एक परिचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि क्षेत्रीय वन अधिकारी पीयूष प्रताप रहे।
मुख्य अतिथि ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज के समय में जैविक खाद का बहुत ही महत्त्व है। जैविक खाद का प्रयोग करके हम आर्गेनिक फसलों का उत्पादन कर सकते है जो कि हानि रहित होती है, इसलिए हमें प्रचलित फ़र्टिलाइज़र का प्रयोग ना करके जैविक खाद का प्रयोग करना चाहिए। निदेशक डॉ सुधा सिंह ने उपस्थित लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमे केमिकल युक्त खाद्यान से अगर बचना है तो हमे जैविक खाद का प्रयोग करना चाहिए क्योकि जैविक खाद का प्रयोग करके ही हानि रहित खाद्यान का उत्पादन कर सकते है जो कि स्वास्थ और वातावरण दोनों के लिए लाभकारी है। इसी क्रम में निदेशक डॉ सुधा सिंह ने जल प्रबंधन पर वार्ता करते हुए कहा कि गिरते हुए जल स्तर को बचाने के लिए हमे जल संचयन करना चाहिए, क्योकि जल है तो जीवन है।
कार्यक्रम का सफल संचालन सहायक कार्यक्रम अधिकारी विनोद मिश्रा ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्यक्रम अधिकारी अवधेश श्रीवास्तव एवं वन विभाग के माली सूर्यन यादव, राम कुमार यादव, महेंद्र लाल, विपिन यादव विनोद यादव, अरविन्द यादव, सीता राम पाल और स्वयं सहायता समूह कि महिलाये सोना देवी, कांति देवी, सुलेखा, फुला, रेखा, मालती, गीता और उषा देवी आदि महिलाओं का योगदान सराहनीय रहा।
Previous articleसिराज मेंहदी को शरद पवार ने दी बड़ी ज़िम्मेदारी, बनाया माइनॉरिटी सेल का राष्ट्रीय चेयरमैन
Next articleजौनपुर : गर्भवती महिला ने एंबुलेंस में दिया बच्चे को जन्म
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏