सनसनीखेज ! सपा विधायक के घर 5 महीने से कैद मिले ब्लॉक प्रमुख

सनसनीखेज ! सपा विधायक के घर 5 महीने से कैद मिले ब्लॉक प्रमुख

# सपरिवार ब्लॉक प्रमुख को पुलिस ने सपा विधायक के घर से छुड़ाया

# सनसनीखेज मामले में कार्रवाई के लिए लगी 8 थानों की फोर्स

बस्ती/लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
               उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां समाजवादी पार्टी के नेता और बस्ती सदर सीट से बीते दिनों विधायक चुने गए महेंद्र नाथ यादव पर आरोप है कि उन्होंने बहादुरपुर के ब्लॉक प्रमुख रामकुमार को पांच महीने तक बंधक बनाए रखा। बहादुरपुर के ब्लॉक प्रमुख को छुड़ाने के लिए एक दो नहीं बल्कि 8 थानों की फोर्स ने सपा नेता के घर छापा मारा।

# ब्लॉक प्रमुख को पुलिस ने सपरिवार छुड़ाया

सपा विधायक महेंद्र यादव पर आरोप है कि उन्होंने बहादुरपुर ब्लॉक के प्रमुख रामकुमार का अपहरण किया। इस मामले में पुलिस ने कलवारी थाने में पहले सपा विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और फिर बंधक ब्लॉक प्रमुख की खोज करने के लिए कार्रवाई शुरू की।पड़ताल के दौरान ब्लॉक प्रमुख रामकुमार की लोकेशन सपा विधायक के घर मिली जिसके बाद तत्काल फोर्स मौके पर पहुंची। घर पर पुलिस पहुंचते ही सपा विधायक ने दरवाजा बंद कर लिया जिसके बाद काफी देर तक पुलिस मूकदर्शक बन खड़ी रही। कुछ देर की मशक्कत के बाद पुलिस ने सख्ती दिखाई और मजबूर होकर सपा विधायक महेंद्र यादव को बहादुरपुर ब्लॉक प्रमुख रामकुमार को पुलिस को सौंपना पड़ा। पुलिस टीम ने ब्लॉक प्रमुख रामकुमार और उनकी पत्नी व 4 छोटे बच्चों को भी सपा विधायक के चंगुल से छुड़ाया।

# कौन हैं रामकुमार..

बीते साल 2021 मई में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में रामकुमार बीजेपी के टिकट से चुनाव जीते मगर कुछ ही दिन बीतने के बाद पलटी मार ली और सपा में चले गए। इसी के बाद से ही रामकुमार को बीजेपी के नेता ढूंढ रहे थे मगर उनका कुछ पता नहीं चल पा रहा था। दावा किया गया कि रामकुमार ने शनिवार को किसी तरह मोबाइल हासिल करने के बाद अपने साले से मदद मांगी। जिसके बाद रामकुमार के साले ने कलवारी थाने में एफआईआर दर्ज कराया। रामकुमार को जब पुलिस ने छुड़ाया तो प्रमुख जब बाहर आते ही सबसे पहले मीडिया से बात की।
                                आरोपी सपा विधायक महेंद्र यादव

# रामकुमार ने छूटने के बाद क्या कहा?

रामकुमार ने बताया कि उन्हें जबरन पिछले 5 महीने से उनके परिवार सहित अपहरण करके रखा गया है। किसी तरह से शनिवार को उन्हें पुलिस ने बंधक मुक्त कराया है। बता दें रामकुमार का जब कथित अपहरण हुआ था तब महेंद्र नाथ यादव सपा के जिला अध्यक्ष थे। हालांकि 10 मार्च को संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में वह बस्ती सदर से विधायक चुने गए।

# जिले के एसपी ने दी ये जानकारी

दूसरी ओर एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि शुक्रवार मार्च का शाम को थाना कलवारी पर मिठाईलाल ने आकर शिकायत दी उनके जीजा रामकुमार को 23 अक्टूबर 2021 को जिलाध्यक्ष समाजवादी पार्टी महेन्द्रनाथ यादव अपने साथ लेकर गए थे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रामकुमार के साले ने शिकायत में कहा कि उनके जीजा रामकुमार ने गुरुवार को साले ओमप्रकाश से फोन पर बातचीत में बताया कि उनको महेन्द्र नाथ यादव ने जबरदस्ती अपने आवास पर बंधक बनाया हुआ है और उनको निकलने नहीं दिया जा रहा है। एसपी ने कहा कि ओमप्रकाश की इस तहरीर के आधार पर एक मुकदमा कायम किया गया है। एसपी के अनुसार मिठाईलाल ने कुछ ऑडियो भी उपलब्ध कराए हैं. उस ऑडियो को सुन कर तहरीर दर्ज की गई और जब मौके पर पुलिस गई तो वहां पर रामकुमार मौजूद थे। एसपी ने आगे कहा कि रामकुमार को वहां से लेकर के उनके परिवार को सुपुर्द कर दिया गया है इस संबंध में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

लाईव विजिटर्स

27348006
Live Visitors
Today Hits
Previous articleजौनपुर : नहर में नहाते समय किशोर की डूबकर हुई मौत
Next articleजौनपुर : होली मिलन समारोह में विधायक रमेश सिंह ने उठाया समर्थकों संग फगुआ गीतों का लुत्फ़
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏