सही समय पर सही इलाज ही थॉयराइड का निदान- डा शैली मोहन निगम

सही समय पर सही इलाज ही थॉयराइड का निदान- डा शैली मोहन निगम

# वेबिनार के माध्यम से मनाया गया थॉयराइड दिवस

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                   कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य के संरक्षण में महिला अध्ययन केंद्र, वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अन्तर्गत विश्व थॉयराइड दिवस के उपलक्ष्य में बुधवार को एक दिवसीय वेबिनार आयोजित की गई जिसका विषय था “मानव स्वास्थ्य पर थायराइड का महत्व”।बतौर मुख्य वक्ता डा.शैली मोहन निगम स्त्री रोग विशेषज्ञ ने थायराइड संबंधित कई तथ्यों से अवगत कराया और भ्रांतियां दूर की। उन्होंने कहा कि थायराइड को हल्के में न लें, यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है।

खास कर अगर माता पिता को यह बीमारी है तो उनके बच्चों में होने की संभावना होती है अतः इसके प्रभाव व बचाव से अवगत होना जरूरी है, इसे हल्के में न लें, चेकअप कराते रहें और डॉक्टर की सलाह से दवा की निरंतरता व सही खानपान को बरकरार रखें।प्रबंध संकाय के आचार्य प्रो. अविनाश पाथर्डीकर ने थायराइड संबंधित आंकड़े, समस्या व प्रभाव पर प्रकाश डाला। नोडल अधिकारी प्रो. अजय प्रताप सिंह ने कहा कि थायराइड एक गंभीर समस्या है इसका निदान लोगों के लिए जानना अति आवश्यक है।

महिला अध्ययन केंद्र प्रभारी डॉ जाह्नवी श्रीवास्तव ने डा. शैली मोहन निगम का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आज थायराइड संबंधित कई तथ्यों से हमें अवगत होने का अवसर प्राप्त हुआ साथ हीं मन में जो भ्रांतियां थी वह भी दूर हुई। शोधार्थी साधना व बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ की जिला संयोजक उर्वशी सिंह ने प्रश्न पूछकर अपनी उत्सुकता जाहिर की। डॉ शशिकांत यादव ने संचालन किया। इस अवसर पर प्रो. देवराज, डा गिरधर मिश्र, डॉ. धीरेंद्र चौधरी, डॉ राकेश यादव, डॉ जगदेव, डॉ विनय वर्मा, डॉ. सुजीत, डॉ पुनीत, डॉ मनोज, डॉ अन्नू एवं सहायक कुलसचिव बबिता सिंह, डॉ वनिता सिंह, सोनम झा, प्रियंका कुमारी, रेखा पाल, पूजा सक्सेना, जया शुक्ला आदि शिक्षक तथा छात्र मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : विवि परिवार के हर चेहरे पर मुस्कान हो- प्रो. निर्मला एस. मौर्य
Next articleजौनपुर : आवास दिलाने के बहाने उचक्के ने महिला को ठगा, गहने लेकर फरार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏