जौनपुर : जान जोखिम में डालकर स्वास्थ्य कर्मी बिना पीपीई कीट के कर रहे जांच

जौनपुर : जान जोखिम में डालकर स्वास्थ्य कर्मी बिना पीपीई कीट के कर रहे जांच

# आक्सीजन सिलेंडर की किल्लत पड़ रही जीवन पर भारी

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
                वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में तैनात चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा अपने जीवन की परवाह किए बगैर मरीजों का कोविड-19 की जांच अथवा वैक्सीनेशन कर रहे हैं। रेलवे जंक्शन पर भी प्रवासियों का आगमन जारी है। जो उन प्रदेशों से अधिक संख्या में आ रहे हैं जहां महामारी का प्रकोप अधिक है। यात्रियों की एंटीजन किट से रेलवे स्टेशन परिसर पर जांच प्रतिदिन कर रहे है। चिकित्सालय में भी एंटीजन किट से जांच एवं वैक्सीनेशन जारी है।

कोविड-19 डेस्क प्रभारी डा. अमित सिंह का कहना है कि सारे चिकित्सक महामारी के विरुद्ध खुद को समर्पित कर चुके हैं। वे खुद को बचाते हुए अनवरत जांच एवं वैक्सीनेशन में जुटे हैं। हालांकि इस दौरान कई जांच में पाजिटिव भी आ चुके हैं। लिहाजा कोविड-19 जांच हेतु पीपीई कीट पहन कर ही करने की तैयारी चल रही है। आक्सीजन सिलेंडर की भारी किल्लत है। महज तीन लोग नगर में इसका व्यापार करते हैं। लेकिन इस दौरान उपलब्धता लगभग शून्य है।

शुक्रवार को आक्सीजन की कमी से हिन्दू युवा वाहिनी के जिला प्रभारी श्रीष मोदनवाल के पिता रविन्द्र मोदनवाल का निधन हो गया। वहीं आधा दर्जन लोग नगर में अभी भी आक्सीजन पर चल रहे हैं। शासन के आदेश पर सिलेंडर हेतु उप जिलाधिकारी राजेश कुमार वर्मा को नामित किया गया है। बगैर डाक्टर के पर्चा दिखाये आक्सीजन नहीं दिया जा रहा। उप जिलाधिकारी के क्वारंटाइन होने के चलते नायब तहसीलदार अमित सिंह के पास चार्ज है। दो दिन पूर्व तक डाक्टर का पर्चा दिखाने पर दुकानदार को सिलेंडर देने का आदेश कर दिया जाता था। लेकिन अब दुकानदारों से पूरा सिलेंडर अपने कब्जे में ले लिया गया है अब उनकी दया पर मरीजों का जीवन टिका है।
Apr 24, 2021

Previous articleजौनपुर : पत्रकार पुत्र पर हुए जानलेवा हमले का एक आरोपी गिरफ्तार
Next articleजौनपुर : अलग-अलग स्थानों पर हुए सड़क दुघर्टना में तीन घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏