जौनपुर : पांच अंतर्राज्यीय शातिर गोवंश तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

जौनपुर : पांच अंतर्राज्यीय शातिर गोवंश तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

# गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से दो पिकअप व कार समेत नौ गोवंश बरामद

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                 पुलिस ने स्वाट और सर्विलांस टीम की मदद से शनिवार को पांच अंतर्राज्यीय गोवंश तस्करों को गिरफ्तार किया है। उनके से एक कार, दो पिकअप और नौ गोवंश बरामद हुआ है। पुलिस ने आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर चालान न्यायालय भेज दिया। पूछताछ में गोवंश तस्करों द्वारा बताए गए 15 अन्य वांछितों के यहां पुलिस द्वारा टीम गठित कर दबिश दी जा रही है।
थानाध्यक्ष श्रीप्रकाश राय ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ तस्कर पिकअप पर गोवंश लादकर कहीं ले जा रहे हैं। सूचना पर स्वाट और सर्विलांस टीम की मदद से थानाध्यक्ष थाने की पुलिस फोर्स के साथ मानीकलां हाल्ट पर पहुंचे। जहां घेराबंदी करके दो पिकअप को रोक लिया गया। साथ में एक स्विफ्ट डिजायर कार भी थी। तलाशी में पिकअप पर नौ गोवंश लदे पाए गए। जिसमें पांच गाय, तीन बछड़े और एक बैल शामिल है। मौके से पांच शातिर गोवंश तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया।
पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम सोनू उर्फ तबरेज आलम पुत्र मोहम्मद फारुख निवासी पाराकमाल थाना खेतासराय, मोनू उर्फ अबूसाद कुरैशी पुत्र मोहम्मद हनीफ कुरेशी निवासी अशरफपुर उसरहटा थाना शाहगंज, रत्नेश उपाध्याय पुत्र विमल कुमार उपाध्याय निवासी देवराजपुर थाना करौदी कला, सुल्तानपुर, शाहिद पुत्र फिरोज निवासी गोड़हरा थाना बरदह आजमगढ़, डब्लू उर्फ शत्रुघन यादव पुत्र राजेंद्र यादव निवासी पूरा पतोही मगही थाना भीमपुरा बलिया बताया।
गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस को बताया है कि उनके साथ आसिफ कुरैशी पुत्र मुस्लिम कुरैशी निवासी सबरहद थाना शाहगंज, आसिफ पुत्र अज्ञात निवासी हसनडीहा थाना अहरौला आजमगढ़ एवं सलमान कुरैशी पुत्र मेराज कुरैशी निवासी माहुल खास थाना अहरौला आजमगढ़ भी थे जो भाग गये। पूछताछ के दौरान अभियुक्त सोनू उर्फ तबरेज आलम और मोनू उर्फ अबुसाद ने बताया कि हम लोग दो साल पहले सऊदी से आये हैं। काम की तलाश में स्थानीय पशु तस्कर व अवैध गोवंश कटाने वालों से मुलाकात हुई।
सलाम व गुड्डू लंगड़ा इस कारोबार में काफी पुराने कारोबारी हैं। इस कारोबार में संलिप्त लोगों का गैंग यही दोनों चलाते हैं। इन लोगों ने हमारी मुलाकात आसिफ निवासी हसनडीहा से करायी। आसिफ के द्वारा पशु तस्करी में ट्रांसपोर्ट का काम करने वाले रत्नेश उपाध्याय तथा शाहिद से मुलाकात हुई। हम लोग उपरोक्त सभी पशु तस्करों से गोवंश खरीद कर रत्नेश, शाहिद, आसिफ सबरहद व आसिफ हसनडीहा एवं खुर्शीद के माध्यम से गोवंश सिवान बिहार भेजने लगे।
हमारी गोवंश लदी गाड़ियां जनपद आजमगढ़, मऊ, गोरखपुर, देवरिया के रास्ते सीधे मेहरौना बार्डर से जनपद सिवान बिहार में प्रवेश करती है। जहां बार्डर पास कराने में शत्रुघ्न यादव उर्फ डब्लू यादव तथा अपने को पत्रकार बताने वाले अमन सिंह निवासी मेहरौना द्वारा कराया जाता है। यह भी बताया कि उक्त गोवंश पशु मेला मालिक मुखिया के जरिये पश्चिम बंगाल सप्लाई होता है। रत्नेश उपाध्याय व शाहिद का गोवंश तस्करी का आपराधिक इतिहास है।

गिरफ्तार करने वाली टीम में थानाध्यक्ष समेत थाने की पुलिस, उप निरीक्षक आदेश त्यागी प्रभारी स्वाट मय टीम, उप निरीक्षक रामजनम यादव प्रभारी सर्विलांस मय टीम और उप निरीक्षक गोविन्द मिश्रा सर्विलांस सेल शामिल रहे।

लाईव विजिटर्स

27345197
Live Visitors
Today Hits
Previous articleजौनपुर : महाविद्यालयों में चल रही परीक्षा के दौरान अचानक पहुंचीं कुलपति
Next articleजौनपुर : बीईओ ने बंद कराया अमान्य विद्यालय, मचा हड़कंप
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏