जौनपुर : भारत भूमि शहीदों की सदा रहेगी ऋणी- प्रो. निर्मला एस मौर्य

जौनपुर : भारत भूमि शहीदों की सदा रहेगी ऋणी- प्रो. निर्मला एस मौर्य

# धनियामऊ में शहीदों को नमन कर परिजनों को किया सम्मानित

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत धनियामऊ शहीद स्तंभ पहुँचकर कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य ने शहीदों को नमन किया और उनके परिजनों को अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया। विद्यार्थियों को शहीद स्तम्भ पर अंकित शहीद जमींदार सिंह, राम अधार, राम पदारथ, रघुराई चौहान, राम निहोर कहार और रामानंद चौहान के बारे में परिचय और वीरता की गाथा को सुनाया। देश भक्ति के नारों से पूरा परिसर गूंजता रहा।

शहीद स्तम्भ परिसर में आयोजित शहीद नमन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि आज हम शहीदों के कारण खुली हवा में साँस ले रहे है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी एक दिन में नहीं मिली थी लम्बे समय तक सभी ने भेदभाव से दूर एकजुट होकर यह लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने 1942 के आन्दोलन की चर्चा करते हुए धनियामऊ पुल काण्ड के शहीदों को नमन किया। कहा कि यह धरती इन वीर सपूतों की सदा ऋणी रहेगी। यह स्मारक युगों- युगों तक इन शहीदों की वीर गाथाओं को लोगों से परिचित कराता रहेगा।विश्वविद्यालय के वित्त अधिकारी संजय कुमार राय एवं कुलसचिव महेंद्र कुमार, शिक्षक संघ के महामंत्री डॉ. राहुल सिंह ने अपने संबोधन में शहीदों को नमन किया।
शहीद स्मारक स्थल पर भोलानाथ मिश्र महाविद्यालय, सल्तनत बहादुर पीजी कालेज, माँ गुजराती महाविद्यालय, धर्मा देवी महाविद्यालय, विद्याधर तिवारी महाविद्यालय, गौरीशंकर महाविद्यालय के शिक्षक विद्यार्थी बड़ी संख्या में पहुंचे थे। कुलपति ने वहां उपस्थित रामानंद चौहान, रघुराई चौहान के पौत्र और बहू एवं शहीद जमींदार सिंह के प्रपौत्र डॉ. प्रभात विक्रम सिंह को सम्मानित किया।धन्यवाद ज्ञापन एनएसएस के समन्वयक डॉ राकेश कुमार यादव एवं संचालन हर घर तिरंगा के नोडल अधिकारी डॉ. मनोज मिश्र ने किया। इस अवसर पर अमृत महोत्सव ने नोडल अधिकारी प्रो. अजय प्रताप सिंह, शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार सिंह, प्रो. एस पी सिंह, डॉ. दिग्विजय सिंह राठौर, राम कृपाल यादव, डॉ. लीना सिंह, डॉ. इन्द्रभान यादव, डॉ. सुधीर श्रीवास्तव, डॉ. राजेश तिवारी, डॉ. सुशील यादव, डॉ. दिव्येंदु मिश्र, डॉ. महेंद्र सिंह समेत क्षेत्रीय तमाम लोग उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : “पाई द चेंजमेकर अवार्ड-2022” से सम्मानित हुए बृजेश पाठक
Next articleजौनपुर : हारने से मिलता है सबक और जीतने का जुनून- रामजी जायसवाल
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏