बागपत : दो समुदायों में खूनी संघर्ष, महिला समेत नौ घायल

बागपत : दो समुदायों में खूनी संघर्ष, महिला समेत नौ घायल

बागपत।
आर एस वर्मा
तहलका 24×7
               बागपत जनपद में चांदीनगर के अब्दुल्लापुर मेवला गांव में रास्ते से रिक्शा हटाने को लेकर दो समुदाय के लोगों में संघर्ष हो गया। जिसमें महिला समेत नौ लोग घायल हो गए। एक युवक की हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे मेरठ रेफर कर दिया। गांव में तनावपूर्ण स्थिति देखते हुए पुलिस बल तैनात है। वहीं, पुलिस ने नौ नामजद व 12 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।
अब्दुल्लापुर मेवला गांव में रविवार को मोमीन की बेटी की बारात आई थी। मोमीन का पुत्र नवाब सोमवार सुबह ई-रिक्शा में टेंट लादकर लौटाने जा रहा था। इसी दौरान रास्ते में कार लेकर आए गांव के शैंकी पुत्र जयभगवान व अमित पुत्र बिजेंद्र ने रिक्शा हटाने के लिए कहा। इस बात पर दोनों में कहासुनी के बाद मारपीट हो गई। इसमें अमित व शैंकी गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके पश्चात दोनों समुदाय के लोग लाठी-डंडे व धारदार हथियार लेकर एक-दूसरे से भिड़ गए। संघर्ष में एक पक्ष से शैंकी पुत्र जयभगवान, अमित पुत्र बिजेंद्र, मोहित पुत्र गजेंद्र, आकाश पुत्र शिवकुमार और दूसरे पक्ष से मोमीन पुत्र रसीद, समीर पुत्र जुल्फिकार, मोहम्मद अली पुत्र रशीद, फैमिदा पत्नी मोमिन व वर्जिला घायल हो गए।
सूचना मिलने पर सीओ विजय चौधरी, चांदीनगर थाना प्रभारी नितिन पांडेय, खेकड़ा थाना प्रभारी दीक्षित कुमार त्यागी, बालैनी थाना प्रभारी विरजाराम, सिंघावली अहीर थाना प्रभारी एनएस सिरोही पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने घायलों को पिलाना सीएचसी में भर्ती कराया। अमित की हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे मेरठ के लिए रेफर कर दिया। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात है।
वहीं, थाना प्रभारी नितिन पांडेय ने बताया कि दोनों पक्षों के नौ नामजद व लगभग 12 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। दोनों पक्ष के कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
Previous articleसुल्तानपुर : आंधी-पानी ने मचाई तबाही, एक की मौत, तीन घायल
Next articleधूल भरी आंधी के बाद जबरदस्त बारिश ने ली 25 लोगों की जान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏