लखनऊ : ओमप्रकाश राजभर फिर पकड़ सकते हैं भाजपा का साथ, अमित शाह से हुई मुलाकात

लखनऊ : ओमप्रकाश राजभर फिर पकड़ सकते हैं भाजपा का साथ, अमित शाह से हुई मुलाकात

# यूपी में बड़ा सियासी उलटफेर, सपा गठबंधन को लगेगा जोर का झटका

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश राजभर के फिर से भाजपा गठबंधन में शामिल होने की सुगबुगाहट है। ओपी राजभर ने अमित शाह से मुलाकात की है जिसके बाद माना जा रहा है कि जल्द ही उनकी पार्टी एनडीए का हिस्सा बन सकती है। इस मुलाकात में यूपी चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान और पार्टी के संगठन महामंत्री सुनील बंसल भी मौजूद थे। संभावना यह भी है कि राजभर की पार्टी को योगी आदित्यनाथ की सरकार में शामिल किया जा सकता है। इन सारी कवायदों को आगामी लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

बताते चलें कि 2017 का चुनाव भाजपा से मिलकर लड़ने वाले ओमप्रकाश राजभर ने 2022 का चुनाव सपा गठबंधन के साथ लड़ा था। राजभर की पार्टी ने 6 सीटें जीती हैं और नतीजों के बाद से ही राजभर चुनाव प्रचार के समय वाली लाइन से हटकर चलते दिखाई दिए। इसे भाजपा के लिए भी मौके की जरूरत और फायदे का सौदा माना जा रहा है। दरअसल उत्तर प्रदेश की करीब दो दर्जन लोकसभा सीटों पर राजभर समाज की अच्छी खासी जनसंख्या है। इसमें से दर्जन भर से ज्यादा सीटों पर वो निर्णायक प्रभाव रखते हैं।
पूर्वांचल के कुछ जिलों में तो राजभर समाज की आबादी 10 से 20 फीसदी तक है। बीते चुनाव में पूर्वांचल की सीटों पर इसका प्रभाव दिखा भी, जब भाजपा का कई जिलों में खाता तक नहीं खुला। गाजीपुर, अंबेडकर नगर, जौनपुर, बलिया, आजमगढ़ और मऊ में भाजपा गठबंधन को काफी नुकसान झेलना पड़ा। लोकसभा चुनाव में भी अगर ऐसी ही स्थिति रही तो एनडीए के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं लिहाजा भाजपा उन्हें हर हाल में अपने साथ मिला लेना चाहती है।

# चुनाव प्रचार में ओपी राजभर भाजपा नेताओं पर थे आक्रामक

विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान ओमप्रकाश राजभर पीएम नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गृह मंत्री अमित शाह समेत पूरी भाजपा के खिलाफ खासे आक्रामक दिखे थे। उनके तमाम बयानों को खूब चर्चा भी मिली थी लेकिन नतीजों के उलटफेर के बाद ओपी राजभर का लहजा बदल गया था। देखना दिलचस्प होगा कि आगे उनकी, भाजपा की और सपा गठबंधन की अगली चाल क्या होगी ?

लाईव विजिटर्स

27287211
Live Visitors
4789
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : नव निर्वाचित विधायक ने समर्थकों संग खेली होली
Next articleजौनपुर : 21 मार्च से लगेगी 12 से 14 साल के बच्चों को कोर्बेवैक्स वैक्सीन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏