सुल्तानपुर : आंधी-पानी ने मचाई तबाही, एक की मौत, तीन घायल

सुल्तानपुर : आंधी-पानी ने मचाई तबाही, एक की मौत, तीन घायल

सुल्तानपुर।
ज़ेया अनवर
तहलका 24×7
             जिले में सोमवार दोपहर बाद आई आंधी और बारिश ने जमकर तबाही मचाई। आंधी में कई जगह पेड़ और बिजली के तार टूटकर गिर गए। पेड़ से टूटी डाल की चपेट में आने से बल्दीराय क्षेत्र में एक 12 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई, जबकि जयसिंहपुर में तीन घायल हो गए। कई मार्गों पर आवागमन बाधित रहा। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक बिजली गुल हो गई। बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली और जायद की फसलों को फायदा पहुंचा है। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटे में भी आंधी के साथ बारिश की संभावना जताई है।
आंधी के दौरान सोमवार दोपहर बाद बल्दीराय क्षेत्र के असफाकपुर मजरे गंगापुर वलीपुर गांव में कई बच्चे बाग में आम बीनने गए थे। गांव के ही विनोद कुमार की पुत्री आंचल (12) पर एक पेड़ की डाल टूटकर गिर पड़ी। आंचल की मौके पर ही मौत हो गई। बाग में मौजूद बच्चे भागकर गांव पहुंचे और हादसे की जानकारी दी। ग्रामीण आंचल का शव उठाकर घर लाया। आंचल की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। वहीं, पूरे जोधी मजरे गंगापुर वलीपुर में आंधी के बीच किसी घर के चूल्हे से उठी चिंगारी ने आठ मकानों को चपेट में ले लिया। आग से विजय पाल, नंद कुमार, रामचंद्र, रामावती, रमेश कुमार, मंजू, शिवपता, गुड़िया का मकान जलकर राख हो गया। पीड़ितों के अनुसार आग से करीब 10 लाख रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है। आग की चपेट में आने से मंजू निषाद की एक बकरी की झुलसकर मौत हो गई। लेखपाल ने गांव पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया।
जयसिंहपुर कस्बे में एक मैजिक पर सोमवार को आंधी के दौरान आम का पेड़ टूटकर गिर पड़ा। दुर्घटना में मैजिक पर सवार तीन लोग घायल हो गए। पेड़ गिरने से आवागमन बाधित हो गया। सूचना पर मौके पर पहुंचे एसडीएम अरविंद कुमार ने जेसीबी से मार्ग खाली करवाया। अखंडनगर क्षेत्र में आंधी के दौरान पारा बासूपुर प्राथमिक विद्यालय की बाउंड्रीवाल भर-भराकर ढह गई। धूल भरी आंधी के दौरान मार्गों पर आवागमन करीब आधे घंटे तक ठप्प रहा। बल्दीराय, चांदा, मोतिगरपुर व कादीपुर क्षेत्रों में भी आंधी ने जमकर तबाही मचाई। आंधी व बारिश के बीच गांवों में बड़ी संख्या में टिन शेड व छप्पर उड़ गए। संपर्क मार्गों पर पेड़ व पेड़ की डाल गिरने से आवागमन बाधित हो गया। शाम को बारिश बंद होने के बाद मार्ग पर गिरे पेड़ों को काटकर हटाने के बाद आवागमन बहाल हो सका।

जिले में हुई हल्की बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिल गई। पुरवा हवा के बीच रात तक बादल छाए रहे। बारिश से मौसम सुहाना हो गया और किसानों की जायद की फसलों को फायदा पहुंचा है। खासकर खेतों में बोई गई सब्जी, सूर्यमुखी व गन्ने की फसल को लाभ मिला है। किसानों को कुछ दिन सिंचाई से फुर्सत मिल गई है।
Previous articleजौनपुर : मनरेगा में लाखों के गोलमाल के आरोपी पूर्व प्रधान पर केस
Next articleबागपत : दो समुदायों में खूनी संघर्ष, महिला समेत नौ घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏