जौनपुर : अग्निपथ के विरोध में उतरे आप कार्यकर्ता, किया प्रदर्शन व सौंपा ज्ञापन

जौनपुर : अग्निपथ के विरोध में उतरे आप कार्यकर्ता, किया प्रदर्शन व सौंपा ज्ञापन

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                आम आदमी पार्टी प्रदेश कार्यकारिणी के आह्वान पर अग्निपथ योजना को निरस्त किए जाने को लेकर जौनपुर में जिला मुख्यालय पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जिला प्रभारी डॉ अनुराग मिश्र के नेतृत्व में जोरदार प्रदर्शन किया तथा भारत के प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।इस अवसर पर जिला प्रभारी डॉ अनुराग मिश्रा ने कहा कि अग्निपथ योजना के तहत देश की सेना में 4 साल की संविदा पर भर्ती न केवल नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है बल्कि यह भारतीय सेना का भी अपमान है।

वर्तमान सरकार पूरी तरह से चंद पूजीपतियों के इशारों पर काम कर रही है और देश की संपत्तियों को इनके हाथों में बेच रही है और अब उन संपत्तियों की सुरक्षा के लिए भारत की सेना को सिक्योरिटी गार्ड ट्रेनिंग सेंटर बनाना चाहती है। जहां अग्निपथ योजना के तहत देश के नौजवान 4 साल ट्रेनिंग लेकर इन पूजीपतियों की प्राइवेट कंपनियों में मामूली से वेतन पर सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करेंगे या फिर बेरोजगारी की मार से आत्महत्या करने पर मजबूर होंगे। व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश सचिव एचएन तिवारी ने कहा कि सरकार की अग्निपथ योजना भारतीय सेना और सैनिकों दोनों के साथ विश्वासघात है।

4 वर्ष के बाद सैनिकों को सेवानिवृत्त कर दिया जाएगा और उन्हें पेंशन भी नहीं मिलेगी जिससे वे सड़क पर आ जाएंगे। पूर्व जिला महासचिव विनोद प्रजापति ने ने कहा कि सैनिक भर्ती की तैयारी में लगा नौजवान 4 साल तो तैयारी में लगा देता है 3 साल से भर्ती नहीं आई है और अब इतने बलिदान के बाद वह 4 साल की नौकरी करके हाथ में कटोरा लेकर सड़क पर खड़ा हो जाएगा इससे भारत की सेना का मनोबल घटेगा जैसे यह देश बर्दाश्त नहीं करेगा। पूर्व जिला उपाध्यक्ष अमरनाथ यादव ने कहा कि सरकार द्वारा जान-बूझकर देश के युवाओं के भविष्य को प्राइवेट कंपनियों के हाथों में देने के लिए अग्निपथ योजना लाई गई है सरकार के इस निर्णय से देशभक्तों की भावनाओं को चोट पहुंची है पार्टी के वरिष्ठ नेता रघुवंश यादव ने कहा कि मैं एक रिटायर्ड सैनिक हूं मुझे पेंशन मिलती है और उसी के बल पर मैंने अपने बच्चों को पढ़ा लिखाकर सबके भविष्य को बना दिया है 4 साल तो केवल सेना का रहन सहन और संस्कृति को समझने बूझने में निकल जाता है ऐसे में बिना रैंक और पेंशन के नौजवान सड़क पर आएगा तो उसका खुद का भविष्य अंधकार में रहेगा वह अपने परिवार का भविष्य क्या बनाएगा।

डॉ दिवाकर मौर्य ने कहा कि हमारी सेना भारत की शान है जो भारत के हर व्यक्ति के लिए गर्व है इसे कमजोर करने की किसी भी साजिश को हम कामयाब नहीं होने देंगे।ज्ञापन देने वालों में रिजवान अहमद, बंटी अग्रहरि, कमलेश गिरी, अभय मिश्रा एडवोकेट, अनिल धर, दिलीप सिंह, मोहम्मद शमीम, मनीष सिंह, अबूसाद अहमद, राकेश मिश्रा, शमीम अहमद, राधेश्याम गुड्डू, शैलेंद्र यादव एडवोकेट, सीबी यादव, अतुल कुमार तिवारी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
Previous articleअग्निपथ विरोध ! जौनपुर में मचे बवाल पर घटनास्थल पर पहुंचे आईजी व कमिश्नर
Next articleस्वस्थ एवं संतुलित जीवन के लिए योगासन जरूरी- मौलाना सफदर हुसैन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏