जौनपुर : छाया ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस के रूप मनेगा वीएचएनडी

जौनपुर : छाया ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस के रूप मनेगा वीएचएनडी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                  जनपद में बुधवार व शनिवार को मनाया जाने वाला ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (वीएचएनडी) अब छाया ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस के रूप में मनाया जाएगा। यह जानकारी परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अपर मुख्य चिकित्साधिकारी (एसीएमओ) डॉ राजीव कुमार ने दी है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में शासन से पत्र भी आया है।
डॉ कुमार ने बताया कि छाया गोली एक नॉन हार्मोनल दवा है। महिलाएं इसका प्रयोग गर्भ निरोध के लिए करती हैं। महिलाओं के स्वास्थ्य पर इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता है। परिवार नियोजन कार्यक्रम को लोकप्रिय बनाने के लिए अभी तक हर के पहले बुधवार व शनिवार को ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस मनाया जाता रहा है। इसी में अब गर्भ निरोधक छाया गोली को जोड़ते हुए इसे छाया ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस आयोजन का उद्देश्य टीकाकरण, पोषण एवं परिवार नियोजन के सभी साधनों के प्रति लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने बताया कि इस आयोजन में एएनएम, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहयोग करती हैं। सामान्यतः यह आयोजन स्वास्थ्य उपकेंद्रों, आंगनबाड़ी केंद्रों, स्कूल, सार्वजनिक भवनों आदि पर मनाया जाता है।

# वीएचएनडी पर मिलती हैं यह सेवाएं

एसीएमओ डॉ कुमार न बताया कि वीएचएनडी पर गर्भवती और धात्री महिलाओं को परिवार नियोजन की सेवाएं दी जाती हैं। गर्भवती और दो साल तक की उम्र के बच्चों का टीकाकरण किया जाता है। दस से 19 साल तक की आयुवर्ग के किशोर-किशोरियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्कतानुसार कैल्शियम और आयरन की गोलियां दी जाती हैं। गर्भवती का वजन करने के साथ ही उनके गर्भ की जांच, ब्लड प्रेशर और गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य की जांच एएनएम करती हैं। बच्चों का वजन कर उन्हें पोषाहार वितरित किया जाता है। कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र के लिए रेफर किया जाता है। किसी गर्भवती या धात्री को यदि जरूरत होती है तो उन्हें भी सीएचसी अथवा जिला चिकित्सालय के लिए रेफर किया जाता है।

# क्या कहते हैं सीएमओ

सीएमओ डॉ. लक्ष्मी सिंह का कहना है कि अपर मुख्य सचिव का पत्र मिला है। पत्र के माध्यम से दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुरूप तैयारियां तेज कर दी गई हैं। आगामी वीएचएनडी को जिले भर में छाया वीएचएनडी के रूप में मनाया जाएगा।

# परिवार नियोजन के साधन अपनाने में जौनपुर अव्वल

38 वार्षिक पुरुष नसबंदी के लक्ष्य के सापेक्ष मार्च 2021 तक 77 तथा मार्च 2022 तक 78 पुरुष नसबंदी हो चुकी है। यह लक्ष्य से 205 प्रतिशत ज्यादा है। 10,000 वार्षिक महिला नसबंदी के लक्ष्य के सापेक्ष मार्च 2021 तक 11636 तथा मार्च 2022 तक 10,273 महिला नसबंदी हो चुकी है। यह लक्ष्य से 103 प्रतिशत अधिक है। 11,000 वार्षिक इंट्रा यूट्राइन कान्ट्रासेप्टिक डिवाइस (आयूसीडी) के लक्ष्य के सापेक्ष मार्च 2021 तक 5,556 आईयूसीडी तथा मार्च 2022 तक 13,401 आईयूसीडी का लाभार्थियों ने उपयोग कर लिया था जो कि लक्ष्य से 122 प्रतिशत अधिक है। 9,500 वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष मार्च 2021 तक 7,580 पोस्ट पार्टम इंट्रा यूट्राइन कान्ट्रासेप्टिक डिवाइस (पीपीआईयूसीडी) तथा मार्च 2022 तक 15,091 पीपीआईयूसीडी का लाभार्थियों ने उपयोग कर लिया था। यह लक्ष्य से 159 प्रतिशत अधिक है। त्रयमासिक गर्भ निरोधक इंजेक्शन अंतरा के लिए वार्षिक लक्ष्य 5,000 निर्धारित किया गया है लेकिन मार्च 2021 तक 5,414 तथा मार्च 2022 तक 20,748 अंतरा का लाभार्थियों ने उपयोग कर लिया था। यह लक्ष्य से 415 प्रतिशत अधिक है। गर्भ निरोधक गोली छाया के लिए 20,000 वार्षिक का लक्ष्य निर्धारित किया गया है लेकिन मार्च 2021 तक 13,144 तथा मार्च 2022 तक 35,095 छाया का लाभार्थियों ने उपयोग कर लिया था। यह लक्ष्य से 175 प्रतिशत अधिक है।

लाईव विजिटर्स

27343420
Live Visitors
Today Hits
Previous articleजौनपुर : इलेक्ट्रॉनिक की दुकान व गोदाम से तीन लाख की चोरी
Next articleजौनपुर : शिविर लगाकर बनाया गया किसान क्रेडिट कार्ड
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏