जौनपुर : बृजेश पटेल हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

जौनपुर : बृजेश पटेल हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

# अवैध संबंध के चक्कर में हुई हत्या में महिला सहित चार आरोपी गिरफ्तार

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               वाराणसी के मैरेज लॉन व्यापारी बृजेश पटेल उर्फ बबलू हत्याकाण्ड का पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने एक महिला समेत चार लोगो को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास हत्या में प्रयोग किया गया लोहे की राड मोबाइल गाड़ी व अन्य सामान बरामद किया है। आईजी वाराणसी के अनुसार बबलू की हत्या आशनाई के चक्कर में उसके लॉन के कर्मचारी ने अपने जीजा व अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर किया था। शव को छिपाने के जिले केराकत थाना क्षेत्र के सोहनी गांव में गेंहू के खेत में फेक दिया था। 
केराकत थाना क्षेत्र के सोहनी गांव में गेंहू के खेत में 20 मार्च की सुबह आठ बजे एक युवक का खून से लथपथ शव मिलने से सनसनी फैल गयी थी। सूचना मिलते ही सीओ शुभम तोदी समेत भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेने के बाद मृतक की शिनाख्त करने का प्रयास किया काफी समय बीत जाने के बाद भी उसकी पहचान नहीं हो सकी तो पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 21 मार्च को मृतक की पहचान बृजेश पटेल उर्फ बबलू पुत्र चंद्रमोहन निवासी पहाड़िया वाराणसी के रूप में हुई। केराकत पुलिस ने मृतक के भाई की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज करके जांच पड़ताल शुरू कर दी। एसपी ने इस हत्याकाण्ड का पर्दाफाश करने के लिए केराकत पुलिस के साथ स्वाट टीम और सर्विलांस टीम को लगाया। ये टीमें संयुक्त रूप से इस ब्लाइड मर्डल का खुलासा कर दी। 

हत्याकांड का खुलासा करते हुए बुधवार को आईजी वाराणसी के सत्यनारायण ने पुलिस लाइन में पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि मृतक शराब और शबाब का शौकिन था। जब वह शराब पीता था वह अपने कर्मचारी मनीष पाल के बहन के ससुराल पहुंच जाता था। इसी तरह घटना वाली रात भी वह अपने मैरेज हाल पर जमकर दारू पिया और मुर्गा खाने के बाद घर से अपनी कार लेकर सीधे अपने कर्मचारी के बहन घर पहुंच  गया। उसके जीजा से कहा कि आप अपने घर में रहे ये मेरे साथ जायेगी। इसी बात को लेकर विवाद हुआ तो बहन अपने भाई को पूरी घटना की जानकारी दी तो भाई अपने एक साथी के साथ मौके पर पहुंच गया।
मालिक और कर्मचारी के बीच गाली गलौज हुआ इसी बीच कर्मचारी ने कार में रखी एक लोहे की राड से बृजेश के सिर पर प्रहार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गयी। उसके बाद कर्मचारी मृतक की कार से ही उसका शव लेकर केराकत थाना क्षेत्र के सोहनी गांव में ले जाकर एक गेंहू के खेत में फेंक दिया। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी मनीष पाल, दीपक पाल, नितिन पाल और सरोजा पाल निवासी वराणसी को गिरफ्तार कर लिया। मुख्य आरोपी मनीष पाल ने खुद स्वीकार किया कि उसने अपने मालिक की हत्या किया है क्योंकि वह उसकी बहन को अनावश्यक रूप से बार-बार परेशान करता था। पुलिस की इस कार्रवाई से उत्साहित आईजी वाराणसी ने घटना खुलासा करने वाली पुलिस टीम को ₹20000 नगद अपर पुलिस अधीक्षक शहर डॉ संजय कुमार व क्षेत्राधिकारी केराकत शुभम तोंडी को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित करने का भी ऐलान किया है।

लाईव विजिटर्स

27345168
Live Visitors
Today Hits
Previous articleजौनपुर : किसान मेला में दी गई किसानों को तकनीकी जानकारी
Next articleजौनपुर की स्वर कोकिला विदुषी हुई सम्मानित
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏