जौनपुर : भाजपा नेता के गुर्गों ने परिवार पर किया जानलेवा हमला

जौनपुर : भाजपा नेता के गुर्गों ने परिवार पर किया जानलेवा हमला

# चार बच्चे, तीन महिलाएं समेत दर्जनभर घायल

# विवादित मकान का ताला तोड़ कब्जे के प्रयास का आरोप

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                शाहगंज के पूर्व चेयरमैन व वरिष्ठ भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल पर उनके गुर्गों द्वारा बुधवार को खेतासराय कस्बा के गोला बाजार में एक विवादित मकान का ताला तोड़कर कब्जा करने का आरोप लगा है। दिलचस्प बात यह कि इतने बड़े घटनाक्रम की जानकारी खेतासराय एसओ को नहीं है। भाजपा नेता के ताण्डव से पूरा परिवार दहशत में आ गया।

 

मकान में रह रहे कस्बे के प्रसिद्ध व्यापारी राधेश्याम जायसवाल, उनकी पत्नी उनके दो बेटे व बहू ने इसका विरोध किया तो भाजपा नेता के गुर्गों ने धारदार हथियार से पूरे परिवार पर हमला बोल दिया। अचानक हुए इस हमले से घबराए व्यापारी नेता राधेश्याम की दो बहुएं छोटे-छोटे बच्चों ने विरोध किया तो हमलावर और उग्र हो गए। सत्ता शासन की हनक के चलते दिन-दहाड़े खुलेआम सभी लोगों को पटक-पटक कर खूब मारा पीटा। जाते समय धमकी दिया कि मेरी सरकार है, हम भाजपा के लोग हैं, कोई मेरा कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा।

अचानक कस्बे में हुए इस घटनाक्रम से पूरे बाजार में दहशत फैल गई। धड़ाधड़ कुछ दुकानें भी बंद हो गई। इस हमले में राधेश्याम जायसवाल पुत्र स्व. राम नारायण जायसवाल (64) घायल हो गए। उनकी पत्नी सावित्री जायसवाल (60) भी घायल हो गई। राधेश्याम के दो बेटे विनोद, विवेक और दो बहुएं पूजा जायसवाल, नीलम जायसवाल के साथ ही 12 वर्षीय पुत्री आरुषि और 11 वर्षीय पुत्र राज समेत परिवार के दर्जन भर लोग चोटिल हो गए।

दरअसल झगड़े का मुख्य विवाद खेतासराय कस्बे में गोला बाजार प्रसिद्ध मार्केट है। जहां 100 वर्ष से भी अधिक समय से ऐतिहासिक रामलीला, श्रीराम कथा समेत कई अन्य धार्मिक आयोजन होता है। जानकार बताते हैं कि 400 करोड़ से अधिक की इस संपत्ति को भाजपा नेता ने बेहद ही कम दाम पर बैनामा करा लिया है। जिसकी शिकायत राधेश्याम जायसवाल जो खुद स्वामी नारायण संप्रदाय अक्षरधाम गुजरात संस्था के सदस्य भी हैं। उन्होंने पिछले वर्ष भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह व अन्य दिग्गज नेताओं से भी किया था। इसी बैनामा वाली भूमि में राधेश्याम जायसवाल भी कई वर्षों से रहते हैं। जिस भूमि का विवाद है उसका मुकदमा सिविल कोर्ट जौनपुर और इलाहाबाद उच्च न्यायालय में लंबित चल रहा है।
घायल व्यापारी राधेश्याम जायसवाल का कहना है कि उच्च न्यायालय से इस मामले में स्थगन आदेश भी जारी है। इसके बावजूद भाजपा नेता ओम प्रकाश जयसवाल के गुर्गे पिछले कई महीने से उन्हें फोन पर दुकान व मकान खाली करने की धमकी दे रहे थे। जिसका उन्होंने विरोध किया तो बुधवार को दोपहर एक बजे भाजपा नेता के गुर्गे हथियारों से लैस होकर हमला बोल दिए। मुख्यमंत्री योगी की सरकार में भाजपा नेता के गुर्गो द्वारा किए गए हमले से पूरे खेतासराय क्षेत्र में जबरदस्त दहशत बनी हुई है। पीड़ित पक्ष ने थाने पहुंचकर आपबीती सुनाई लेकिन इस मामले में खेतासराय पुलिस की भूमिका संदिग्ध है। इस सम्बन्ध में एसओ यजुर्वेन्द्र सिंह ने इस पूरे प्रकरण में अभिनज्ञता जताई और अन्य कुछ भी जानकारी साझा करने से परहेज़ किया। वहीं दूसरी तरफ पूर्व चैयरमैन ओमप्रकाश जायसवाल से आरोपों के बाबत जानकरी लेने का प्रयास किया लेकिन सम्पर्क नहीं हो सका।
Previous articleजौनपुर : सर्पदंश से महिला की मौत, मचा कोहराम
Next articleजौनपुर : “बैक आपके द्वार” के तहत बड़ौदा यूपी बैंक ने लगाया एक दिवसीय शिविर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏