जौनपुर : शाहगंज पुलिस की लंपटता, तहरीर तक नहीं दी लेकिन बना दिया वादी

जौनपुर : शाहगंज पुलिस की लंपटता, तहरीर तक नहीं दी लेकिन बना दिया वादी

# कथित वादी ने एसपी को पत्र देकर कहा मेरे खिलाफ रची गयी साजिश

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
                 पुलिस की करतूतें भी अजीबोगरीब होती हैं। कहां तो एक प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए नाक रगड़ना पड़ता है, वहीं शाहगंज कोतवाली पुलिस ने एक ऐसे शख्स को वादी बना दिया जिसने कोई तहरीर तक नहीं दी थी। कथित वादी ने इसे अपने खिलाफ साजिश बताया और पुलिस अधीक्षक समेत तमाम प्रशासनिक अधिकारियों का दरवाजा खटखटाया है। शाहगंज पुलिस की इस लंपटता की चर्चा क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।
कोतवाली थाना क्षेत्र के एराकियाना निवासी राजकुमार पुत्र मेवा लाल ने पुलिस अधीक्षक सहित तमाम प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के समक्ष प्रार्थना पत्र के साथ हलफनामा देकर कहा कि वह पान की दुकान चलाता है। उसकी दुकान पर बीते 25 दिसम्बर को अफजल व दानिश नामक दो व्यक्ति से किसी भी प्रकार का कोई विवाद नहीं हुआ और न ही वह स्थानीय कोतवाली में उन लोगों के खिलाफ कोई लिखित तहरीर दी है। सूचनाकर्ता के अनुसार उसे बताया गया कि वह उपरोक्त लोगाें के खिलाफ शाहगंज कोतवाली में शिकायत किया। जिस पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। जबकि ऐसी भी शिकायत उसने कोतवाली में नहीं किया है।

राजकुमार ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र के साथ हलफनामा देकर अवगत कराते हुए कहा कि उपरोक्त लोगों से मेरा कोई विवाद नहीं है। इस प्रकरण की जांच कराकर मेरे खिलाफ रची गयी साजिश का पर्दाफाश किया जाय। बताते चलें कि राजकुमार के नाम से कोतवाली पुलिस ने पांच जनवरी को मुकदमा अपराध संख्या 6/22 मारपीट गाली गलौज व जान से मारने की धमकी आदि धाराओं में दर्ज किया। जिसकी जानकारी होने पर कथित आरोपी वादी मुकदमा से मिलकर मामले को जानने का प्रयास किया। पूरी जानकारी होने पर वादी ने किसी भी तरह की मतभेद रंजिश से इंकार करते हुए केस पंजीकृत कराने से अनभिज्ञता जताई।
रविवार को कथित वादी मुकदमा राजकुमार पुलिस अधीक्षक अजय साहनी, जिलाधिकारी से मिलने के अलावा उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर निराधार मुकदमे की जांच कराए जाने की मांग की। राजकुमार ने कहा कि आपसी भाईचारा खराब करने की साजिश के तहत अराजक तत्वों द्वारा मेरा नाम दिया जा रहा है।मामले में प्रभारी निरीक्षक सुधीर कुमार आर्या ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच पैसे के लेनदेन का विवाद था। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज हुआ बाद में दोनों ने आपसी समझौता कर लिया। जांच के बाद मुकदमा स्पंज किया जाएगा।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : आचार संहिता के उल्लंघन का पहला मुकदमा पूर्व विधायक नदीम जावेद पर दर्ज
Next articleजौनपुर : सरपतहां पुलिस ने शान्ति भंग की आशंका में 07 लोगों को किया गिरफ्तार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏