सुल्तानपुर : चोरी की 17 घटनाओं का खुलासा, महिला समेत चार गिरफ्तार

सुल्तानपुर : चोरी की 17 घटनाओं का खुलासा, महिला समेत चार गिरफ्तार

सुल्तानपुर।
ज़ेया अनवर
तहलका 24×7
               जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में हुई चोरी की 17 घटनाओं में लिप्त महिला समेत चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। चोरी के आभूषण खरीदने के आरोप में सर्राफा व्यवसायी को गिरफ्तार कर पुलिस ने करीब 13 लाख रुपये कीमत के सोने और चांदी के जेवरात भी बरामद किए हैं। आरोपियों के पास 27 हजार रुपये नकद भी बरामद हुए हैं।

बढ़ौली तिराहे के पास से पकड़े गए आरोपियों में जीत बहादुर प्रजापति उर्फ जीतू निवासी लोकनाथपुर बालचंद्र पट्टी, अभिषेक उर्फ अखिलेश निवासी शाहपुर बगिया, दोस्तपुर और शीतला प्रसाद निवासी बिनवन सरैया, मोतिगरपुर शामिल हैं। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि उन्होंने जिले में चोरी की कई घटनाओं को अंजाम दिया हैं। पुलिस के मुताबिक जीत बहादुर और अभिषेक ने बताया कि चोरी के सामान को वे शीतला की पत्नी सुंदरावती के पास रखते थे। पूछताछ के बाद पुलिस ने शीतला की पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया।

डीआईजी/ एसपी डॉ. विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने जिले के मोतिगरपुर, दोस्तपुर, कादीपुर, जयसिंहपुर, अखंडनगर और करौंदीकलां क्षेत्रों में चोरी की 17 घटनाओं को अंजाम दिया है। आरोपी चोरी के जेवरात को सर्राफा व्यवसायी हरिओम सोनी निवासी लोकनाथपुर, दोस्तपुर को देते थे। हरिओम उन्हें गलाकर दूसरे जेवरात बनाकर बेच देता था। पूछताछ के बाद पुलिस ने सर्राफा व्यवसायी की दुकान पर छापा मारकर चोरी के जेवरात भी बरामद कर लिए। पुलिस टीम ने सर्राफा व्यवसायी समेत पांचों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर चालान न्यायालय भेज दिया।

# घर के बाहर सोने वालों के घर को बनाते थे निशाना

डीआईजी/एसपी डॉ. विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि गिरफ्तार किए गए चोर रात करीब दो से ढाई बजे के बीच दूर इलाकों में जाते थे। जो लोग अपने घर के बाहर सोते मिलते उनके मकान को निशाना बनाते थे। चोरी करते समय एक आरोपी बाइक लेकर दूर खड़ा रहता था। चोरी की घटना के बाद सभी एक किलोमीटर पैदल जाते और फिर से सबसे पहले शीतला के घर पहुंचते थे।
Previous articleसुल्तानपुर : बाइकों की भिड़ंत में दो युवकों की दर्दनाक मौत
Next articleसुल्तानपुर : अवैध अतिक्रमण पर गरजा बुलडोजर, मची अफरा-तफरी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏