आजमगढ़ : यूक्रेन में फंसी छात्रा रेनू के सकुशल घर पहुंचते ही छाई खुशियां

आजमगढ़ : यूक्रेन में फंसी छात्रा रेनू के सकुशल घर पहुंचते ही छाई खुशियां

# जताया प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी का आभार

आजमगढ़।
फैज़ान अहमद
तहलका 24×7
               रूस के हमले के बाद यूक्रेन में फंसी सगड़ी तहसील के खतीबपुर की एमबीबीएस छात्रा रेनू यादव के घर पहुंचते ही परिवार में खुशियां छा गई। पड़ोसियों और रिश्तेदारों ने भी पहुंचकर रेनू को बधाई दी। पूर्व प्रधान राजेश यादव और भाई सत्यशील यादव ने रेनू को मिठाई खिलाकर खुशियां बांटी।
रेनू ने बताया कि 28 फरवरी को निजी बस से 125 डालर किराया देकर हम लोग रोमानिया बार्डर के लिए रवाना हुए थे। 25 किलोमीटर पहले ही बस ने हम लोगों को छोड़ दिया, जिसके चलते 25 किलोमीटर पैदल सफर करना पड़ा। रोमानिया के बुद्धा एयरवेज से एक मार्च को दिल्ली पहुंच गई, जहां उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से निश्शुल्क भोजन-पानी की व्यवस्था की गई थी। प्रदेश सरकार ने हम लोगों को बनारस तक का फ्री हवाई जहाज का टिकट दिया। मंगलवार की रात नौ बजे बनारस पहुंच गई और उसके बाद भाई के साथ घर आ गई। रेनू ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एंव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया कि इस मुश्किल समय में बहुत जिम्मेदारी से यूक्रेन में फंसे छात्रों की बहुत मदद कर रहें हैं।
रेनू के अनुसार युद्ध के चलते यूक्रेन की हालत बहुत ही खराब है। मैं तो ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि मेरे देश के जितने भी लोग वहां फंसे हैं, वह सब कुशलता से भारत लौट आएं। रेनू के भाई सत्यशील यादव, बाबा रामस्वरूप यादव, पिता नरेंद्र यादव, माता मीरा यादव, चाची गीता यादव, बहन समीक्षा यादव व पड़ोसी सुरेंद्र यादव ने उसकी सकुशल वापसी पर संतोष जताया है।

लाईव विजिटर्स

27303287
Live Visitors
4192
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : गढ्ढे में गिरने से बाइक सवार युवक की मौत दूसरा घायल
Next articleजौनपुर : यूक्रेन मे फंसा मेडिकल छात्र लौटा घर वापस, परिजनों मे खुशी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏