जौनपुर : राष्ट्र निर्माता होता है शिक्षक- डॉ गोरखनाथ पटेल

जौनपुर : राष्ट्र निर्माता होता है शिक्षक- डॉ गोरखनाथ पटेल

# उत्कृष्ट शैक्षिक नवाचार संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह आयोजित

सिकरारा।
दीपक श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होते हैं, सेवाकाल में रहते हुए वह नौनिहालों को शिक्षा और संस्कार देते हैं तो अवकाश ग्रहण के पश्चात अपने अनुभवों के आधार पर समाज का मार्गदर्शन करते हैं। उक्त बातें बतौर मुख्य अतिथि ब्लाक संसाधन केंद्र पर शनिवार को आयोजित उत्कृष्ट शैक्षिक नवाचार संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह में बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ गोरखनाथ पटेल ने कही।

उन्होंने कहा कि सरकारी सेवा में अवकाश प्राप्त करना तो लगा ही रहता है, लेकिन इसके बाद जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। गैर जनपद स्थानांतरित बीईओ राजीव यादव ने कभी भार महसूस नही किया। सौंपे गए सभी कार्यों को पूरा करने में यकीन रखते थे। जो कार्य शुरू किया उसे अंजाम तक पहुंचाया। अपने कार्यकाल में उन्होंने जनपद में बेहतर कार्य किया। उम्मीद है कि स्थानांतरित जिले में भी अपना बेहतर प्रदर्शन जारी रखेंगे। विशिष्ट अतिथि डायट प्राचार्य सच्चिदानंद यादव ने कहा कि शिक्षक केवल छात्र का व्यक्तित्व निर्माण ही नहीं करता अपितु एक बेहतर समाज की नींव भी रखता है।

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अमित सिंह व पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सुशील उपाध्याय में कहा कि बीईओ ने सभी से सामंजस्य निभाते हुए कार्य किया। सभी को साथ लेकर चले। कलम चलाने के बजाय मिल बैठकर मामला सुलझाने पर बल दिया। इनके कार्याकाल को सभी अधिकारी, शिक्षक व कर्मचारी हमेशा याद रखेंगे। अतिथियों ने अवकाश प्राप्त महिला शिक्षक मनोरमा देवी व सुदामी देवी व गैर जनपद स्थानांतरित बीईओ राजीव यादव को स्मृति चिन्ह व अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। अध्यक्षता राष्ट्रपति शिक्षक सम्मान से सम्मानित अवकाश प्राप्त शिक्षक लल्लन उपाध्याय व संचालन महिला शिक्षक संयुक्ता सिंह व नुपूर श्रीवास्तव ने संयुक्त रूप से किया।

वक्ताओं में वित्त एवं लेखाधिकारी दीपक कुमार सिंह, डायट प्रवक्ता डॉ मनीष कुमार सिंह, बीईओ राजीव यादव, आंनद प्रकाश सिंह, बीईओ राजेश यादव, प्रवक्ता डायट आरएन यादव, जिला मंत्री सतीश पाठक, प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लाक अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह, महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष अर्चना सिंह, अश्विनी सिंह, अतुल सिंह, सीमा उपाध्याय, अजय पांडेय, राजेश सिंह टोनी, सन्तोष सिंह बघेल, विशाल सिंह, सतीश सिंह, राजीव सिंह लोहिया, नितीश सिंह आंनद सिंह देव सहित भारी संख्या में शिक्षक उपस्थित रहे। कार्यक्रम में अनुपम श्रीवास्तव, डा.सुरेश कुमार यादव, शैलेंद्र कुमार यादव, संतोष सिंह, राजेंद्र प्रताप, सुरेंद्र प्रजापति, सुधारानी यादव, निर्मला यादव, गीता सिंह, ममता श्रीवास्तव, सर्वजीत यादव, स्वतंत्र कुमार, सुभाष बिंद, वीरेंद्र सिंह शिवम सिंह, राकेश सिंह व अनंत यादव आदि रहे।
Previous articleजौनपुर : खुटहन का पिलकिछा गांव बनेगा मॉडल गांव
Next articleजौनपुर : प्रदेश सरकार द्वारा घोषित आदर्श गांव पिलकिछा की जमीनी हकीकत
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏