20.1 C
Delhi
Thursday, February 22, 2024

जौनपुर : शासन प्रशासन के द्वेषपूर्ण रवैए पर आईएमए खफा…

जौनपुर : शासन प्रशासन के द्वेषपूर्ण रवैए पर आईएमए खफा…

# आईएमए का आरोप.. बगैर जांच किए सील किया आदर्श डायग्नोसिस सेंटर

जौनपुर।
रविशंकर वर्मा
तहलका 24×7
नगर के वाजिदपुर तिराहा के समीप स्थित आदर्श डायग्नोस्टिक सेंटर को सील किए जाने पर आईएमए ने गहरी नाराजगी जताई है। रविवार को आईएमए भवन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में आईएमए के जिलाध्यक्ष डा. एके मिश्र ने कहा कि बगैर जांच पड़ताल किए ही प्रशासन ने आदर्श डायग्नोस्टिक सेंटर को सील करने की कार्रवाई की है जो बेहद ही निंदनीय है।

 

पूर्व विधायक व आईएमए के सदस्य डॉ हरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि आदर्श डायग्नोस्टिक सेंटर में काम करने वाले चिकित्सक डा. एके चट्टोपाध्याय को सितंबर 2022 में हटा दिया गया था क्योंकि वह मानक के विपरीत कई अन्य सेंटरों पर अपना नाम दिए हुए थे। डॉ एके चट्टोपाध्याय ने जिलाधिकारी व सीएमओ को पत्र लिखकर सूचित किया भी था लेकिन सीएमओ के यहां से पोर्टल पर इनका नाम अभी तक हटा नहीं जिसके कारण दूसरे डॉक्टर का नाम अभी तक अपलोड नहीं हो पाया। डॉ. एके चट्टोपाध्याय का नाम पोर्टल से हटाने का अधिकार व दायित्व संबंधित अधिकारियों का ही होता है। इन सब तथ्यों की जांच किए बिना ही दुराग्रह पूर्ण भावना से जिला प्रशासन ने आदर्श डायग्नोस्टिक सेंटर को सील करने की कार्रवाई की है। जबकि नियमानुसार डायग्नोस्टिक सेंटर को सील करने से पहले सिटी मजिस्ट्रेट को पूरे मामले की जानकारी सीएमओ कार्यालय से लेनी चाहिए थी।
उन्होंने आरोप लगाया कि जिस वक्त नगर मजिस्ट्रेट डायग्नोस्टिक सेंटर पर पहुंचे थे उस वक्त उनके समक्ष भी सेंटर के संचालक की ओर से यह सारे तथ्य रखे गए थे लेकिन उन्होंने एक नहीं सुनी। प्रशासन ने दुराग्रह पूर्ण कार्यवाही की है। डॉ सिंह ने दावा किया है कि डायग्नोस्टिक सेंटर को सील करने के बाद नगर मजिस्ट्रेट ने एसीएमओ को बुलाकर उन पर दबाव बनाकर अभिलेखों पर उनका हस्ताक्षर करवाया और सारे प्रपत्र और मूल अभिलेख अपने साथ लेकर चले गए जबकि एक प्रतिष्ठित डायग्नोस्टिक सेंटर जो लंबे समय से अपनी सेवाएं दे रहा है वह नियमानुसार सीएमओ कार्यालय में रजिस्टर्ड है उसकी प्रतिष्ठा को धूमिल करने की कोशिश की गई है। उन्होंने इस पूरे मामले को जिलाधिकारी से संज्ञान में लेने की मांग की है।

 

आईएमए के सचिव मेजर डॉ एके मौर्य ने कहा कि आईएमए के सदस्य उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त चिकित्सा विज्ञान में प्रशिक्षित सम्मानित नागरिक हैं जो समाज के लिए अत्यंत आवश्यक सेवाएं प्रदान करते हैं। अधिकारी से हम यह अपेक्षा करते हैं कि हमारे साथ गरिमा पूर्ण व सम्मानजनक भाषा का प्रयोग करें और हमारे साथ कोई अपमानजनक व्यवहार न करें। इस मौके पर संगठन के डॉ तेज सिंह, डॉ आलोक यादव, डॉ जयेश सिंह,
डॉ मुकेश शुक्ला, डॉ फैज अहमद, डॉ एए जाफरी एवं अन्य लोग उपस्थित रहे।

तहलका संवाद के लिए नीचे क्लिक करे ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓

लाईव विजिटर्स

36518394
Total Visitors
232
Live visitors
Loading poll ...

Must Read

Tahalka24x7
Tahalka24x7
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... ?

अवैध शराब बेचने वालों पर प्रवर्तन की कार्यवाही की जाए : जिलाधिकारी

अवैध शराब बेचने वालों पर प्रवर्तन की कार्यवाही की जाए : जिलाधिकारी # कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक...

More Articles Like This