जौनपुर : “काल कलौटी उज्जर धोती मेघा भाई पानी दे” का ग्रामीणों ने किया टोटका

जौनपुर : “काल कलौटी उज्जर धोती मेघा भाई पानी दे” का ग्रामीणों ने किया टोटका

# कुड़ियारी गांव के बच्चों ने पूरे गांव में लोटकर इंद्रदेवता से मांगा पानी

शाहगंज।
अनूप जायसवाल
तहलका 24×7
                काल कलौटी उज्जर धोती मेघा भाई पानी दे बोल- बोलकर बच्चे सभी के घर जाकर मेढक से पानी मांग रहे थे और प्रत्येक घर के लोगों द्वारा बच्चों के ऊपर पानी फेंका जाता रहा। इंद्रदेव को प्रसन्न करने का यह एक पुराना टोटका है।क्षेत्र के बीबीगंज चौकी अंतर्गत कुड़ियारी गांव के बच्चों ने पूरे गांव में लोटकर इंद्रदेवता से पानी मांगा। बारिश की धूमिल होती उम्मीदें और आसमान पर काले बादलों की आंख-मिचौली अब तकलीफ देने लगी है। मौसम विभाग की ओर से की जा रही भविष्यवाणी भी नाकाम साबित होने लगी है। ऐसे में गांवों में यह टोटके भी अजमाने शुरू हो गए हैं।
उमस भरी गर्मी से बेहाल बच्चे सोमवार को भगवान इंद्रदेव का कुछ इस तरह से मनुहार करते नजर आए। माना जाता है कि बच्चों के इस तरह मिट्टी में लोटने पर भगवान को दया आती है, और इसके बाद बारिश होने की संभावना बढ़ जाती है । ग्रामीण स्तर पर मान्यताओं के अनुसार जल के देवता इंद्र को मनाने के लिए महिलाओं द्वारा जहां अनेक टोटके को आजमाया जा रहा है, वहीं मेढक का रूप धारण कर गांव के बच्चों द्वारा इंद्र देवता को रिझाने के लिए काल कलवती उज्जर धोती कहकर मेढक से पानी मांग रहे थे और प्रत्येक घर के लोगों द्वारा बच्चों के ऊपर पानी फेंका जाता रहा, जिससे बच्चे कीचड़ में लोटते रहे और जाते वक्त घर से आटा व मीठा दिया गया। यह प्रथा अब कुछ ही गांव में देखने को मिलती है। इसी प्रथा को निभाते हुए बीबीगंज चौकी अंतर्गत कुड़ियारी गांव के बच्चों ने पूरे गांव में लोटकर इंद्रदेवता से पानी मांगा। वहीं मौसम में बदलाव से सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए किसान अपनी गाढ़ी कमाई का पैसा फसलों को सींचने में खर्च कर रहे है।
Previous articleगाजीपुर : सावन के पहले दिन पैतृक आवास पहुँचे राज्यमंत्री “दयालु गुरु”
Next articleजौनपुर : हर घर तिरंगा जागरूकता अभियान का कुलपति ने किया शुभारंभ
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏