जौनपुर : कोरोना गाइडलाइंस सिर्फ बताने के लिए है, अमल के लिए नहीं…

जौनपुर : कोरोना गाइडलाइंस सिर्फ बताने के लिए है, अमल के लिए नहीं…

# सभी सरकारी कार्यालयों में खुलेआम उड़ रही है कोरोना गाइडलाइंस की धज्जियां

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               सरकार के फरमान के बाद भी भले ही सभी सरकारी कार्यालयों में कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं हो रहा था। कर्मचारी न तो मास्क लगाए रहते हैं और न ही कार्यालयों में सैनिटाइजर ही रखा गया है। इतना ही नहीं कर्मचारियों के टेबल भी आपस में सटे मिल जाते हैं।

कोरोना संक्रण को लेकर एक माह पहले सरकार की ओर से 50 फीसदी कर्मचारियों को रोज कार्यालय आने का निर्देश दिया गया था, जिसके क्रम में जिले में भी इस रोस्टर से कर्मचारियों को कार्यालय बुलाया जा रहा था, लेकिन कोरोना संक्रमण कम होने के बाद सरकार ने सोमवार से पूरी क्षमता के साथ कार्यालय खोलने का निर्देश दिया था, जिसके बाद जिम्मेदारों ने पूरी क्षमता के साथ कार्यालय तो खोल दिया, लेकिन कोरोना के नियमों का पालन कराना भूल गए। हालत यह रही कि सभी कर्मचारी अपने-अपने कार्यालयों में पहुंचे, लेकिन अधिकांश कर्मचारी न तो मुंह पर मास्क लगाए थे और न ही हाथ धुलने क लिए कार्यालयों में सैनिटाइजर रखा गया था। ऐसा नजारा तकरीबन सभी कार्यालयों में रहा।

लाईव विजिटर्स

27320293
Live Visitors
6453
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : पर्यावरण संरक्षण के लिए करें निरंतर पौधरोपण- प्रो. निर्मला एस. मौर्य
Next articleजौनपुर : सेमेस्टर परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि विश्वविद्यालय ने बढ़ाई
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏