आजमगढ़ : गन्ना के अभाव में चीनी मिल पर ताला लटकने की तैयारी

आजमगढ़ : गन्ना के अभाव में चीनी मिल पर ताला लटकने की तैयारी

आजमगढ़।
फैज़ान अहमद
तहलका 24×7
              दी किसान सहकारी चीनी मिल में पेराई की गति मंद होने के साथ अब बंद करने पर प्रबंधन ने विचार शुरू कर दिया है। कारण है कि मिल परिक्षेत्र का गन्ना समाप्त होने की कगार पर पहुंच गया है। मंगलवार को मात्र 15 ट्राली गन्ना की आपूर्ति हो सकी।

पेराई सत्र 2021-22 में गन्ने की पेराई का लक्ष्य पूरा करते हुए 24 लाख 30 हजार 300 क्विटल गन्ने की पेराई की गई और एक लाख 63 हजार क्विटल चीनी का उत्पादन किया है। इसके अलावा एक लाख 69 हजार क्विटल बी हैवी शीरा तैयार किया गया है। हालांकि, इस बार चीनी मिल को कई बार किन्हीं कारणों से बंद भी करना पड़ा। कभी तकनीक खराबी के चलते, तो कभी मरम्मत और गन्ने के अभाव में चीनी मिल खड़ी रही। इसके बावजूद 90 दिन पेराई की गई। पिछले पेराई सत्र 2020-21 पर नजर डाली जाए तो केवल 87 दिन चीनी मिल चली और 23.57 लाख क्विटल गन्ने की ही पेराई हो सकी थी। पेराई से चीनी का उत्पादन दो लाख पांच हजार क्विटल और सी हैवी शीरा 1.18 लाख क्विटल तैयार किया गया।

इस प्रकार वर्तमान पेराई सत्र की तुलना पिछले सत्र करने पर पता चलता है कि चीनी मिल ने अधिक कमाई की। चीनी मिल प्रबंधन भी सफलता से गदगद नजर आ रहा है। जीएम लालता प्रसाद सोनकर ने बताया कि गन्ना खत्म होने को है। खत्म होने के बाद मिल बंद कर दी जाएगी। किसानों का गन्ना का भुगतान 15 जनवरी तक का कर दिया गया है। बाकी भुगतान एक-दो दिन में पहुंच जाएगा।

लाईव विजिटर्स

27340689
Live Visitors
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleसुल्तानपुर : हारने व जीतने वाले प्रत्याशी को घर तक पहुंचाएगी पुलिस
Next articleजौनपुर : घटना के दूसरे दिन भी रीठी में तैनात रही कई थानों की पुलिस फोर्स
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏