जौनपुर : विद्युत विभाग की लापरवाही का दंश झेलने को मजबूर उपभोक्ता

जौनपुर : विद्युत विभाग की लापरवाही का दंश झेलने को मजबूर उपभोक्ता

# हाई-वोल्टेज से पंखा, इन्वर्टर, मोबाइल चार्जिंग, मोटर, कूलर, टीवी, समर्सेबुल जला

शाहगंज।
एख़लाक खान
तहलका 24×7
               बिजली विभाग की घोर लापरवाही से आए दिन लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। अघोषित बिजली कटौती तो होती ही है, उपभोक्ता कभी लो-वोल्टेज की मार लोग झेलने के लिए विवश होतें हैं तो कभी हाई-वोल्टेज से अपने बिजली के उपकरणों से हाथ धो बैठते हैं।

विद्युत विभाग की कुछ ऐसी ही लापरवाही पिछले महीने भी हुई थी, जिसमें भादी गांव स्थित सेंट थॉमस रोड के लोगों को लाखों का नुकसान उठाना पड़ा। एक पखवाड़े बाद फिर उसी तरह की लापरवाही रविवार की दोपहर को देखने को मिली। अचानक हाई-वोल्टेज विद्युत सप्लाई से लोगों के घरों में लगा पंखा, इन्वर्टर, मोबाइल चार्जिंग, मोटर, कूलर, टीवी, समर्सेबुल आदि जल गया। जिसमें उपभोक्ताओं को काफी आर्थिक क्षति झेलने को मजबूर होना पड़ा।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि विभाग की इस घोर लापरवाही का जिम्मेदार कौन? समय पर बिजली के बिल का भुगतान न करने पर विभाग के कर्मचारी लोगों का कनेक्शन काटने में जरा भी देर नहीं करते है। मगर विद्युत विभाग की लापरवाही से लोगों को जो नुकसान हो रहा है उसकी भरपाई कौन करेगा?

क्षेत्र के भादी फीडर पर हज़ारों उपभोक्ताओं और काफी बड़ा क्षेत्र होने के कारण काफी लोड होने से यहां के उपभोक्ता कई-कई दिन बिजली गुल हो जाने से परेशान रहते हैं। नगर क्षेत्र में लो-वोल्टेज तो ग्रामीण इलाकों ने भारी लोड से रोजाना आ रही तकनीकी ख़राबी और ट्रांसफार्मर जलने की समस्या से यहां कई-कई दिन बिजली गुल रहना आम बात हो गई है। जन समस्या पर जिम्मेदार अधिकारी मौन साधे हुए हैं।
Previous articleजौनपुर : अन्तर्जनपदीय वाहन चोरों के गिरोह का पर्दाफाश, पांच अभियुक्त गिरफ्तार
Next articleजौनपुर : अबूझ कारण से युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏