23.1 C
Delhi
Sunday, February 5, 2023

जौनपुर : संगत पंगत ने धूमधाम से मनाई डॉ राजेन्द्र प्रसाद की जयंती

जौनपुर : संगत पंगत ने धूमधाम से मनाई डॉ राजेन्द्र प्रसाद की जयंती

जौनपुर। 
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव 
तहलका 24×7 
               संगत पंगत संगठन जौनपुर द्वारा भारत के प्रथम राष्ट्रपति एवं महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी डॉ राजेन्द्र प्रसाद की जयंती समारोह मंगलम लान मियांपुर में धूमधाम से मनाया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष पंकज श्रीवास्तव हैप्पी भाजपा नेता ने किया संचालन महामंत्री सुलभ श्रीवास्तव भाजपा नेता ने किया। सर्वप्रथम सभी लोगो ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।
संगत पंगत के प्रदेश सहसंयोजक राजेश श्रीवास्तव बच्चा भइया एडवोकेट ने कहा कि डॉ राजेंद्र प्रसाद जी भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से थे और उन्होंने देश आज़ादी व भारतीय राजनीति में प्रमुख भूमिका निभाई व देश के प्रथम राष्ट्रपति बने। संरक्षक बजरंग प्रसाद ने कहा कि उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया था। कायस्थ कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ अशोक अस्थाना ने कहा कि राष्ट्रपति होने के अतिरिक्त उन्होंने भारत के पहले मंत्रिमंडल में 1946 एवं 1947 मेें कृषि और खाद्यमंत्री का दायित्व भी निभाया था।
कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष शिव मोहन श्रीवास्तव नबाब ने कहा कि सम्मान से उन्हें प्रायः ‘राजेन्द्र बाबू’ कहकर पुकारा जाता है। “राजेन्द्र बाबू का जन्म 3 दिसम्बर 1884 को बिहार के तत्कालीन सारण जिले (अब सीवान) के जीरादेई नामक गाँव में हुआ था।” संरक्षक राकेश श्रीवास्तव पूर्व प्रशासनिक अधिकारी ने कहा कि राजेन्द्र प्रसाद के पूर्वज मूलरूप से कुआँगाँव, अमोढ़ा (उत्तर प्रदेश) के निवासी थे। यह एक कायस्थ परिवार था।दीवानी अधिवक्ता संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि पाँच वर्ष की उम्र में ही राजेन्द्र बाबू ने एक मौलवी साहब से फारसी में शिक्षा शुरू किया। उसके बाद वे अपनी प्रारंभिक शिक्षा के लिए छपरा के जिला स्कूल गए।
जिलाध्यक्ष पंकज श्रीवास्तव हैप्पी ने कहा कि राजेन्द्र बाबू का विवाह उस समय की परिपाटी के अनुसार बाल्यकाल में ही लगभग 13 वर्ष की उम्र में राजवंशी देवी से हो गया। विवाह के बाद भी उन्होंने अपना पढ़ाई जारी रखा। संरक्षक संजय श्रीवास्तव एडी जीसी क्रिमिनल ने कहा कि 18 वर्ष की उम्र में उन्होंने कोलकाता विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा दी। उस प्रवेश परीक्षा में उन्हें प्रथम स्थान प्राप्त हुआ था। कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के महामंत्री राजीव श्रीवास्तव राजू ने कहा कि सन् 1902 में उन्होंने कोलकाता के प्रसिद्ध प्रेसिडेंसी कॉलेज में दाखिला लिया। उनकी प्रतिभा ने गोपाल कृष्ण गोखले तथा बिहार-विभूति अनुग्रह नारायण सिन्हा जैसे विद्वानों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।
संरक्षक ग्रिजेश श्रीवास्तव ने कहा कि 1915 में उन्होंने स्वर्ण पद के साथ विधि परास्नातक (एलएलएम) की परीक्षा पास की और बाद में लॉ के क्षेत्र में ही उन्होंने डॉक्ट्रेट की उपाधि भी हासिल की। संगत पंगत के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विश्व प्रकाश श्रीवास्तव दीपक वरिष्ठ पत्रकार ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनका पदार्पण वक़ील के रूप में अपने कैरियर की शुरुआत किये राजेन्द्र बाबू महात्मा गाँधी की निष्ठा, समर्पण एवं साहस से बहुत प्रभावित हुए और 1928 में उन्होंने कोलकाता विश्वविद्यालय के सीनेटर का पदत्याग कर दिया। वरिष्ठ अधिवक्ता वीरेन्द्र सिन्हा ने कहा कि गाँधीजी ने जब विदेशी संस्थाओं के बहिष्कार की अपील की थी राजेन्द्र बाबू ने अगुवाई किया था।
महिला जिलाध्यक्ष डॉ प्रतिमा श्रीवास्तव ने कहा कि राजेंद्र बाबू तो अपने पुत्र मृत्युंजय प्रसाद जो एक अत्यंत मेधावी छात्र थे उन्हें कोलकाता विश्वविद्यालय से हटाकर बिहार विद्यापीठ में दाखिल करवाया था। उन्होंने ‘सर्चलाईट’ और ‘देश’ जैसी पत्रिकाओं में इस विषय पर बहुत से लेख लिखे थे। संरक्षक दयाल सरन श्रीवास्तव ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन के समय महत्वपूर्ण योगदान रहा।
उक्त अवसर पर कर्मचारी नेता विकास भवन राजीव कुमार श्रीवास्तव रोशन, कोषाध्यक्ष शरद श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष अजय वर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत पंकज श्रीवास्तव, भाजपा नेता राजेश श्रीवास्तव मोदी, प्रभात कुमार, अमर श्रीवास्तव, आर पी श्रीवास्तव, डॉ संजय श्रीवास्तव, सुलभ श्रीवास्तव, संदीप श्रीवास्तव पत्रकार, अमूल्य श्रीवास्तव, ललित श्रीवास्तव, अनुपम श्रीवास्तव, शिवा प्रसाद, अजय वर्मा, बृजेश सिन्हा, एडवोकेट ग्रिजेश श्रीवास्तव, अनीस श्रीवास्तव, श्रीयन्स श्रीवास्तव, दीपक श्रीवास्तव, अंकित श्रीवास्तव पत्रकार, शशि श्रीवास्तव, प्रदीप श्रीवास्तव, अजय श्रीवास्तव आदि सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

Total Visitor Counter

30905377
Total Visitors

Must Read

जौनपुर : नवागत कप्तान ने पहले दिन ही किया जफराबाद व चंदवक थाने का निरीक्षण 

जौनपुर : नवागत कप्तान ने पहले दिन ही किया जफराबाद व चंदवक थाने का निरीक्षण  # अधूरे अभिलेख को अपडेट...

जौनपुर : शिक्षक की पिटाई से क्षुब्ध छात्र के परिजनों ने ग्रामीणों के साथ किया विद्यालय का घेराव 

जौनपुर : शिक्षक की पिटाई से क्षुब्ध छात्र के परिजनों ने ग्रामीणों के साथ किया विद्यालय का घेराव  # शिक्षक...

आजमगढ़ : महिलाओं व छात्राओं को आत्मरक्षार्थ किया गया जागरूक

आजमगढ़ : महिलाओं व छात्राओं को आत्मरक्षार्थ किया गया जागरूक # एंटी रोमियो स्क्वाड ने सार्वजनिक स्थलों पर चलाया चेकिंग...
Avatar photo
Tahalka24x7
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏

जौनपुर : नवागत कप्तान ने पहले दिन ही किया जफराबाद व चंदवक थाने का निरीक्षण 

जौनपुर : नवागत कप्तान ने पहले दिन ही किया जफराबाद व चंदवक थाने का निरीक्षण  # अधूरे अभिलेख को अपडेट...

जौनपुर : शिक्षक की पिटाई से क्षुब्ध छात्र के परिजनों ने ग्रामीणों के साथ किया विद्यालय का घेराव 

जौनपुर : शिक्षक की पिटाई से क्षुब्ध छात्र के परिजनों ने ग्रामीणों के साथ किया विद्यालय का घेराव  # शिक्षक के चार पहिया वाहन को...

आजमगढ़ : महिलाओं व छात्राओं को आत्मरक्षार्थ किया गया जागरूक

आजमगढ़ : महिलाओं व छात्राओं को आत्मरक्षार्थ किया गया जागरूक # एंटी रोमियो स्क्वाड ने सार्वजनिक स्थलों पर चलाया चेकिंग अभियान पवई। अनूप जायसवाल  तहलका 24x7       ...

पवन भास्कर बने कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय सचिव

पवन भास्कर बने कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय सचिव नई दिल्ली/जौनपुर।  दीपक श्रीवास्तव  तहलका 24x7               अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष/राष्ट्रीय संयोजक...

बागपत में दिनदहाड़े कलियुगी बेटे ने किया मां की निर्मम हत्या 

बागपत में दिनदहाड़े कलियुगी बेटे ने किया मां की निर्मम हत्या  # मां ने घर के बाहर सड़क व नाली की सफाई के लिए बेटे...
- Advertisement -

More Articles Like This

This Website Follows
FCDN's Code Of Ethic
DMPJA
Proudly We are
Member of
FCDN
Membership ID- FCDN-IN-P/UP/0003
Click Here to Verify
Our Membership at
DMPJA