जौनपुर : राजनीति वैज्ञानिक प्रो. भंवर लाल गर्ग का हुआ निधन

जौनपुर : राजनीति वैज्ञानिक प्रो. भंवर लाल गर्ग का हुआ निधन

# निधन की खबर से राजनीति विज्ञान के विद्यार्थियों एवं विद्वानों में शोक की लहर

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग में 1989 तक कार्यरत रहे प्रोफेसर डॉ भंवर लाल गर्ग ने 96 वर्ष की आयु पूर्ण कर अमेरिका के “”पोर्ट लैंड””में अचानक शरिर त्याग कर दिया। प्रो गर्ग की धर्मपत्नी पहले ही गुजर चुकी हैं,जो काहिविवि परिसर स्थित विद्यालय में प्राचार्य पद से सेवा निवृत्त होकर बचों के साथ रहती थीं। पुञ अरूण, वरूण, राहुल गर्ग एवं पेशे से डॉक्टर पुञी सीमा गर्ग परिवार सहित बाहर ही विदेश में रह रहे हैं। छोटा पुत्र राहुल गर्ग -“गुगल में प्रिंसिपल लीड प्रोग्राम मैनेजर” पर तैनात है। प्रोफेसर गर्ग स्वभाव से सरल, सादगी पसंद, कर्तव्य के प्रति समर्पित, विधार्थियों के लिए आत्मीयतापूर्ण भाव,समय के पाबंद थे। उनकी कक्षाओं में छाञों की सर्वाधिक उपस्थिति दर्ज होती थी्। वे कभी विदेशी याञा से वापस लौटते थे तो अपनी सायकिल से ही विभाग जाते थे। अपार सम्पन्नता में भी सहजता, सरलता और सायकिल का साथ नहीं छोड़ा। उनका जन्म राजस्थान के ” छोटी सदरी गांव” में सन-1916 ई में हुआ था। महात्मा गांधी से प्रभावित 16 वर्ष की अवस्था में भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लिया, तथा 21 वर्ष की आयु में भारतीय आजादी पर गांव में तिरंगा यात्रा निकाली थी। यही नहीं राजस्थान में प्रचलित घूंघट प्रथा के विरुद्ध एक मुहिम की शुरुआत अपने धर, अपनी मां से करके एक साहसिक सफल अभियान चलाया था। आपको कभी स्थानीय या विभागीय राजनीति में रूचि नहीं रही । प्रोफेसर मनोरंजन झा,प्रो.हरिहर नाथ ञिपाठी,प्रो.वी.पी.गुप्ता,प्रो.टी.एन.पंत,प्रो.पी.डी.कौशिक,प्रो.नलिनी पंत(प्रयागराज) आदि विद्वानों के समकालीन रहे। आत्मीयभाव से परिपूर्ण, ब्यापक सोंच, छाञहीत के प्रति सदैव सजग रहे। प्रोफेसर बी.एल.गर्ग के आकस्मिक निधन की खबर सुनकर काशी हिन्दू विश्वविद्यालय , सामाजिक विज्ञान संकाय, सहित अन्य जगहों से शोक सभा कर लोगों द्वारा शोक ब्यक्त किया जा रहा है। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र, राजा श्री कृष्ण दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय जौनपुर के प्राचार्य रहे, राजनीति विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अखिलेश्वर शुक्ला ने महाविद्यालय परिवार के समस्त सदस्यों की तरफ से शोक व्यक्त करते हुए कहा कि-“आज का दिन मेरे लिए अत्यंत ही दुखद समाचार प्राप्त होने का दिन है। मैंने अपने पिता तुल्य गुरु को खो दिया है। मैं मेरा परिवार उनके स्नेह प्यार आशीर्वाद का ऋणी रहेगा। उनका ब्यक्तित्व-कृतित्व भूलाया नहीं जा सकता। आपकी आत्मा को शांति एवं भरे- पूरे परिवार को इस असह्य पीड़ा को सहन करने की शक्ति के लिए परम् पिता परमेश्वर से प्रार्थना करता हूं। सादर नमन वंदन सहित श्रद्धांजलि। ओम् शान्ति शान्ति शान्ति। डॉ अखिलेश्वर शुक्ला विभागाध्यक्ष राजनीति विज्ञान विभाग, राजा श्री कृष्ण दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय जौनपुर-222001,उतर प्रदेश, भारत। सम्पर्क-9451336363.

लाईव विजिटर्स

27303360
Live Visitors
4265
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : धूमधाम के साथ संपन्न हुआ ऊमर वैश्य समाज का सामूहिक विवाह
Next articleजौनपुर : पीआरबी व पुलिस के जवानों की बहादुरी ने बचाई जा सकी बछड़े की जान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏