जौनपुर : सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाएं बनी कागजों की खुराक, भटक रहे ग्रामीण

जौनपुर : सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाएं बनी कागजों की खुराक, भटक रहे ग्रामीण

# प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को दो वित्तीय में नही मिला शौचालय

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                 वर्तमान केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं को लेकर चल रहे विधानसभा चुनाव में जनता के बीच राग अलाप रही है। उन महत्वाकांक्षी योजनाओं में सबसे प्रमुख योजना आवास और शौचालय योजना है। जो वैश्विक पटल पर भी एक मिसाल पेश करने का काम किया है लेकिन सम्पूर्ण भारत में यह योजना भले ही नज़र आती हो लेकिन हकीकत विभागीय अधिकारी महज़ कागजी घोड़ा दौड़ा रहे है। यह बात हम विकास खण्ड शाहगंज सोंधी की बात कर रहे है। जहां पर सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं धरातल से कोसों दूर है।

विकास खण्ड शाहगंज सोंधी सरकार की योजनाओं को लेकर हमेशा से सुर्खियों में रह है। यहां के विभागीय जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाहियों का खामियाजा ग्रामीण भोगते है। इन दिनों इस विकास खण्ड में आवास योजना और शौचालय योजना को लेकर चर्चा में है। दरअसल यहाँ प्रधानमंत्री आवास योजना और शौचालय योजना को लेकर चर्चा में है कि इस विकास खण्ड के विभिन्न गांवों में जिनको आवास योजना के तहत पात्र माना गया और आवास मिला है वे सब शौचालय योजना से लाभ नहीं पाएं है जिससे ये सब पात्र लाभार्थी विकास खण्ड का चक्कर लगाने को मजबूर हैं।

# प्रदेश के सबसे बड़ा ब्लॉक शाहगंज सोंधी में योजनाओं का लगता है पलीता

विकास खण्ड शाहगंज सोंधी प्रदेश का सबसे बड़ा विकास खण्ड है। इस ब्लॉक में 113 ग्राम पंचायत और 155 क्षेत्र पंचायत सदस्य है। जनपद की एक बड़ी आबादी इस ब्लॉक से निवास करती है। जहाँ पर सरकार द्वारा चलाई जा रही महत्वाकांक्षी योजनाओं पर पलीता लगता है। सरकार की योजना जमीनी हकीकत से कोसो दूर है। जिससे आज ग्रामीण परेशान होकर इधर – उधर का चक्कर काट रहे है। वर्तमान सरकार और उनके जिम्मेदार अधिकारियों को कोसते रहते है।

लाभार्थी मायूस होकर लौट जा रहे है। इस तरह से सरकार की विभिन्न योजना का जमकर पलीता लग रहा है। विदित हो कि इस विकास खण्ड में कुछ ऐसे गांव है जहां पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास तो मिला है लेकिन उनको शौचालय योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। जिससे भारी संख्या ग्रामीण खुले शौच में जाने के लिए विवश है। जिसमें सरकार की मंशा की खुले आम धज्जियां उड़ रही है। यह कार्य विकास खण्ड के कर्मचारियों के उदासीनता के चलते हो रहा है? ऐसे में विभिन्न योजनाओं पर ग्रहण लग गया है। जिससे ग्रामीण भटक रहे है।

# क्या कहते है ग्राम प्रधान

विकास खण्ड शाहगंज सोंधी के प्रमुख गांव आर्यनगर कला के ग्राम प्रधान संदीप मौर्य ने इस सबन्ध में बताया कि इस वित्तीय वर्ष में लगभग 10 आवास ग्राम सभा को आवंटित हुआ। जिसमें से एक भी आवास लाभार्थी को शौचालय नहीं मिला है। जिससे शौच के लिए ग्रामीण बाहर जाने के लिए मजबूर है। वहीं पोरई खुर्द के ग्राम प्रधान कृपाशंकर राजभर ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में मेरे ग्राम सभा में मात्र 9 लाभार्थी को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिला। जिसमें से अभी तक किसी लाभार्थी को शौचालय का लाभ नहीं मिला। ग्राम सभा हाजी रफीपुर के ग्राम प्रधान मो. खालिद ने बताया कि मेरे ग्राम सभा में एक भी ग्रामीण को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभ नहीं है और न ही शौचालय योजना का लाभ मिल है। जिससे पूरी तरह से ग्रामीण खुले शौच करने के लिए विवश है। इसी तरह है ग्राम सभा अरंद, जमदहा, रानीमऊ, लेदही सहित तमाम ऐसे गांव है जहां पर सरकार की योजनाओं के लाभों से कोसो दूर है।

# एक नज़र वित्तीय आंकड़ों पर

अगर हम विकास खण्ड शाहगंज सोंधी के वित्तीय वर्ष पर के आंकड़ों पर नज़रों डाले तो वित्तीय वर्ष 2020 से 2021 में विकास खण्ड शाहगंज सोंधी में 2084 आवास औमुक्त हुआ है लाभार्थियों को इसका लाभ मिला है लेकिन इन लाभार्थियों को एक भी शौचालय नहीं मिला है। वित्तीय वर्ष 2021- 2022 मात्र 867 आवास सोंधी विकास खण्ड को अवमुक्त हुआ जो पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में घटकर कम हो गया। यह बहुत ही दुर्भाग्य की बात है। जिन योजनाओं का लाभ मिलना था वही नहीं मिल पा रहा है। वर्तमान वित्तीय वर्ष भी समाप्त होने के कगार पर है लेकिन योजनाओं को साकार करने में फ्लॉप साबित हो रहा है? अब आगे देखना है कि क्या सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुचाने में अधिकारी अपने कर्तव्यों का निर्वहन सही ढंग से करेंगे?

# बोले खण्ड विकास अधिकारी

इस सबन्ध में खण्ड विकास अधिकारी नंद लाल कुमार ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020- 2021 में 2084 आवास आवंटित हुआ वर्ष 2021- 2022 में 867 आवास का आवंटन हुआ जिसमें शत प्रतिशत आवास लाभार्थियों को शौचालय का लाभ मिला है। लेकिन वित्तीय वर्ष 2021- 2022 के आंकड़े के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं है।

लाईव विजिटर्स

27284363
Live Visitors
1941
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleमदर निसा फाउंडेशन के संस्थापक सदस्य को मातृशोक,
Next articleजौनपुर : नदी के किनारे अज्ञात युवती का मिला शव, क्षेत्र में मचा हड़कंप
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏