वाराणसी : अनियमितता पर वाराणसी डीएम ने लिया बड़ा फैसला…

वाराणसी : अनियमितता पर वाराणसी डीएम ने लिया बड़ा फैसला…

# एडीएम आपूर्ति को निर्वाचन के सभी कार्यों से हटाया

वाराणसी।
आर एस वर्मा
तहलका 24×7
              मंगलवार शाम से ईवीएम पर मचा सियासी तूफान बुधवार अलसुबह तक थम गया। अब इस मामले में कार्रवाई होने लगी है। मामले में एडीएम (आपूर्ति) नलिनी कांत सिंह को निर्वाचन कार्यों से अवमुक्त कर दिया गया है। नलिनी कांत सिंह को ईवीएम का नोडल प्रभारी बनाया गया था।

डीएम/ जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, नलिनी कांत सिंह ने मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी और राजनैतिक दलों को मूवमेंट प्लान शेयर किए बिना ही ईवीएम को प्रशिक्षण कार्य के लिए यूपी कॉलेज भेजा। आदेश के अनुसार, नलिनी कांत की इस लापरवाही की वजह से वाराणसी के प्रत्याशियों में बहुत बड़े भ्रम की स्थिति फैली, जिसे नियंत्रित करने में वाराणसी जिले की छवि गंभीर रूप से धूमिल हुई। ऐसी गंभीर अनियमितता के कारण नलिनी कांत सिंह अपर जिलाधिकारी (आपूर्ति) को ना सिर्फ ईवीएम नोडल प्रभारी के कार्य से अवमुक्त कर दिया गया बल्कि निर्वाचन के सभी कार्यों से हटा दिया गया।

# संजय कुमार बने ईवीएम नोडल प्रभारी

एडीएम के मतगणना स्थल पर जाने पर भी रोक उनके मतगणना स्थल पर जाने पर भी रोक लगाने का आदेश है। नलिनी कांत की जगह पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व संजय कुमार को ईवीएम का नोडल प्रभारी बनाया गया है। बता दें कि मंगलवार शाम वाहन से ईवीएम मिलने पर समाजवादी पार्टी समेत विपक्षी दलों को कार्यकर्ताओं ने खासा हंगामा किया था। उन्हें समझाने में प्रशासन को नाकों चने चबाने पड़े थे। रात में ही जब हंगामा हो रहा था तो मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने मूवमेंट प्लान शेयर करने में चूक की बात स्वीकार की थी। तभी से अंदेशा था कि इस मामले में कोई ना कोई कार्रवाई जरूर होगी।

लाईव विजिटर्स

27303616
Live Visitors
4521
Today Hits

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : सुखमय महिला महाविद्यालय में हुआ रासेयो के सप्त दिवसीय शिविर का शुभारंभ
Next articleजौनपुर : राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय शिविर का हुआ शुभारंभ
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏